नयी उम्मीद के साथ स्टेशन बनाया जायेगा स्मार्ट

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

गया : वर्ष 2020 में नयी उम्मीद के साथ गया रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट की तरह विकसित करने की योजना बनायी गयी है. नये साल में गया रेलवे स्टेशन पर चार लिफ्टों की भी सुविधा दी जायेगी. वहीं, डेल्हा की ओर नया प्रवेश व निकास द्वार बनाये जायेंगे. इसके लिए प्लेटफॉर्म के बाहर ही यात्रियों को बैठने के लिए प्रतीक्षालय, पूछताछ कार्यालय बनाये जायेंगे.

रेलवे का उद्देश्य है कि जिस तरह एयरपोर्ट पर टिकट लेने के बाद यात्री एयरपोर्ट के बाहर ही वेटिंग हॉल में प्रतीक्षा करते हैं, ठीक वैसे ही नये साल में गया रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़ने वाले यात्री भी सर्कुलेटिंग एरिया में ही टिकट लेने के बाद ट्रेन का इंतजार करेंगे. इससे स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ कम होगी और उन्हें ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ेगा.
वहीं, अतिरिक्त 10 वाटर वेंडिंग मशीनें भी लगायी जायेंगी, ताकि रेल यात्रियों को गया रेलवे स्टेशन पर परेशानियों का सामना न करना पड़े. स्टेशन पर हर सुविधा देने के लिए वरीय अधिकारियों से लेकर स्थानीय अधिकारियों की एक विशेष बैठक हुई है. बैठक में पारित किये गये प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए उसे पूरा करने का निर्देश दिया गया है.
गया-डाल्टेनगंज के बीच रेललाइन पर होगी चर्चा
गया से डाल्टेनगंज के बीच रेललाइन बिछाने के लिए जनवरी में विशेष चर्चा की जायेगी. बताया जाता है कि जनवरी में रेल महाप्रबंधक के आने की सूचना मिल रही है. रेल महाप्रबंधक द्वारा गया रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया जायेगा. निरीक्षण के दौरान गया से डाल्टेनगंज के बीच रेललाइन बिछाने पर चर्चा होगी. गौरतलब है कि रेललाइन बिछाने के लिए कुछ दूरी तक सर्वे भी किया गया है.
हजारों रेलयात्रियों को होगी सहूलियत
डेल्हा की ओर 12 करोड़ की लागत से प्रवेश व निकास द्वारा बनाया जा रहा है. वर्ष 2020 में इस योजना को पूरा करने का निर्देश हाजीपुर के रेल महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी ने दिया है. उन्होंने कहा कि 2020 तक इस योजना को पूरा कर दिया जाये.
डेल्हा की ओर प्रवेश व निकास द्वार बन जाने से टिकारी, कोच, परैया, कुजाप, कुजापी, डेल्हा, गुलनी, गोपालपुर, खरखुरा कॉलोनी सहित अन्य जगहों के हजारों रेलयात्रियों को सहूलियत मिलेगी. लोग गया से पटना जाने के बाद एक नंबर प्लेटफॉर्म होकर आते हैं. लेकिन, अब ऐसा नहीं होगा. डेल्हा की ओर प्रवेश व निकास द्वार बन जाने के बाद अासानी से लोग अपनी-अपनी ट्रेन को पकड़ सकते हैं.
पुराने टिकट घर को बनाया जायेगा वेटिंग हॉल
रेलवे अधिकारियों की टीम ने बताया कि पुराने टिकट घर को तोड़ कर यात्रियों के बैठने के लिए प्रतीक्षालय बनाया जायेगा, ताकि रेलयात्री टिकट खरीद कर प्रतीक्षालय में बैठ कर ट्रेनों का इंतजार करेंगे. पुराने टिकट घर में ट्रेनों के आने की सूचना व डिसप्ले बोर्ड भी लगाये जायेंगे, ताकि ट्रेनों की पल-पल जानकारी यात्रियों को आसानी से मिल सके.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें