क्रिसमस को लेकर जिले के सभी गिरजाघरों में रौनक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बक्सर : क्रिसमस को लेकर जिले के सभी गिरजाघरों में रौनक है. क्रिसमस को लेकर लगातार कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं. बक्सर के कैथोलिक चर्च की ओर से जहां एक तरफ ईसाई समुदाय के लोगों के घरों में कैरोल गाया गया, वहीं दूसरी तरफ मेथोडिस्ट चर्च के द्वारा क्रिसमस ट्री कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

कार्यक्रम के तहत पूरे गिरजाघर को ऑर्टिफिसियल क्रिसमस ट्री से सजाया गया था. लोगों ने प्रभु यीशु की प्रार्थना की. कार्यक्रम में पादरी एलआर तिमोथी ने लोगों के बीच प्रभु यीशु का संदेश सुनाया. उन्होंने पाप को परिभाषित करते हुए कहा कि ईश्वर की आज्ञा उल्लंघन ही पाप है और पाप का अंतिम परिणाम मृत्यु है.
यीशु का जन्म ही नया जीवन देने के लिए हुआ है. परमेश्वर ने छह दिनों में ही इस सृष्टि की रचना की है और सातवां दिन विश्राम का है. उन्होंने कहा कि इन्हीं सात दिनों को क्रिसमस के अलग-अलग रूपों में याद किया जाता है. क्रिसमस ट्री के बारे में बताते हुए कहा कि यह उसी वाटिका का ट्री है, जहां परमेश्वर ने आदम को रखा था. आदम और हव्वा इस दुनियां के प्रथम पुरुष और स्त्री हैं.
इसी ट्री के फल को हव्वा ने आदम को खिलाया और पाप का भागी बनाया. वहीं दूसरी ओर पांडेयपट्टी स्थित संत थॉमस मिशन स्कूल में क्रिसमस को लेकर कार्यक्रम आयोजित हुआ. कार्यक्रम का उदघाटन स्कूल के डायरेक्टर सुनील कुमार एवं अन्य ने केक काटकर किया.
इस अवसर पर बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में हिस्सा लिया. विद्यालय के प्रिंसिपल सीवी पत्रोश ने बच्चों व अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि क्रिसमस खुशी का त्योहार है.इस मौके पर नंदू पांडेय, मिस्टर पीटर, मिस्टर संजय, अरुण उपाध्याय, कृष्ण ओझा, गोल्डी ओझा समेत अन्य शामिल रहे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें