1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. sourav ganguly led india beat england in natwest trophy 2002 final on this day moahmmad kaif yuvraj singh lords cricket ground watch video rkt

जब भारत के दो ‘नौसिखियों’ ने इंग्लैंड से लिया था हार का बदला, लॉर्ड्स के ऐतिहासिक जीत पर ऐसे मना था जश्न

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Natwest Trophy 2002
Natwest Trophy 2002
फोटो - सोशल मीडिया

साल 2002 में भारत और इंग्‍लैंड के बीच खेला गया नेटवेस्‍ट सीरीज फाइनल हर भारतीय के जेहन में आज भी ताजा होगा. भारत की शानदार जात के बाद कप्तान सौरव गांगुली का उनका शर्ट खोलकर जश्न मानने का तरीका आज तक लोग भूले नहीं है. बता दें कि गांगुली ने इंग्लैंड के कप्तान एंड्रयू फ्लिंटॉफ को अपने ही अंदाज में जवाब दिया था. फ्लिंटॉफ ने उसी साल फरवरी में मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत पर जीत के बाद अपनी शर्ट निकली थी.

भारत ने 13 जुलाई 2002 को लार्ड्स में खेले गये फाइनल में इंग्लैंड के 326 रन के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल किया था जिसके बाद गांगुली ने अपनी शर्ट निकालकर खुशी जाहिर की थी. कई लोगों को उनकी यह हरकत नागवार गुजरी थी. वहीं उस समय टीम के मैनेजर रहे राजीव शुक्ला ने बाद में खुलासा किया था कि सौरव एंड्रयू फ्लिन्टाफ को उनकी भाषा में जवाब देना चाहते थे जब उसने मुंबई में दर्शकों के सामने अपनी जर्सी निकालकर लहरायी थी. असल में वह चाहते थे कि पूरी टीम अपनी जर्सी उतारकर लहराये. लेकिन सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड और वीवीएस लक्ष्मण सभी ने नम्रता से सौरव के आग्रह को ठुकरा दिया था.

बता दें कि इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मार्कस ट्रेस्‍कोथिक (109) और कप्‍तान नासिर हुसैन (115) के शतकों की मदद से 50 ओवर में 5 विकेट खोकर 325 रन बनाए थे. इस लक्ष्य का पिछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरूआत काफी अच्छी रही , वीरेंद्र सहवाग (45) और कप्‍तान सौरव गांगुली (60) 87 गेंदों में 106 रन की साझेदारी की. पर भारतीय टीम अच्छी शुरूआत का फायदा नहीं उठा पायी और मध्यक्रम इंग्लैंड की गेंदबाजी के आगे ढह गया. पर टीम के युवा बल्लेबाजों ने हार नहीं मानी और युवराज सिंह (69) और मोहम्‍मद कैफ (87*) की शानदार पारी खेल कर टीम को जीत दिलायी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें