पीसीबी ने भ्रष्टाचार निरोधक जांच पूरी होने तक अकमल को किया निलंबित

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कराची : विवादों से घिरे उमर अकमल के कैरियर को गुरुवार को एक और झटका लगा जब स्पाट फिक्सिंग के लिये संपर्क किये जाने की जानकारी नहीं देने के कारण पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भ्रष्टाचार निरोधक जांच पूरी होने तक उन्हें तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया.

बोर्ड ने हालांकि अपने आधिकारिक बयान में यह नहीं बताया कि अकमल ने किस तरह से आचार संहिता का उल्लंघन किया है. पीसीबी ने एक बयान में कहा , पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने उमर अकमल को आज तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया है.

वह पीसीबी की भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई की जांच पूरी होने तक क्रिकेट से जुड़ी किसी गतिविधि में भाग नहीं ले सकता. इसमें कहा गया, मामले की जांच चल रही है. पीसीबी इस मामले पर आगे कोई बयान नहीं देगा. बोर्ड के एक आला अधिकारी ने कहा कि भ्रष्टाचार निरोधक ईकाइ को सबूत मिले हैं कि गुरुवार से शुरू हो रही पाकिस्तान सुपर लीग में स्पाट फिक्सिंग के लिये सटोरिये ने अकमल से संपर्क किया था.

सूत्र ने कहा, खबर यह है कि उमर को कुछ दिन पहले एक पाकिस्तानी ने यह पेशकश की थी लेकिन उन्होंने भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई को तुरंत इसकी सूचना नहीं दी जो नियमों के तहत जरूरी है. उन्होंने कहा, उससे भी खराब बात यह है कि उसने उस व्यक्ति से फिर मुलाकात की. एसीयू ने कल उमर से पूछताछ के समय उसे मुलाकात के सबूत दिये और कुछ मैसेज दिखाये.

अकमल की पीएसएल टीम क्वेटा ग्लेडिएटर्स को गुरुवार से शुरू हो रहे 2020 सत्र में उनके विकल्प के लिये आवेदन करने की अनुमति दे दी गई है. पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज कामरान अकमल के छोटे भाई उमर अकमल ने पाकिस्तान के लिये 16 टेस्ट, 121 वनडे और 84 टी20 मैच खेलकर क्रमश: 1003, 3194 और 1690 रन बनाये हैं. उसने आखिरी बार अक्टूबर में पाकिस्तान के लिये खेला था.

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण के साथ उम्मीदें जगाने वाले अकमल अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर सके. अधिकारियों से लगातार विवादों का असर भी उनके कैरियर पर पड़ा. इस महीने की शुरुआत में भी वह प्रतिबंध से बाल बाल बचे थे जब उन्होंने लाहौर में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में फिटनेस टेस्ट के दौरान ट्रेनर को कथित तौर पर अपशब्द कहे थे.

दुबई में पीएसएल के तीसरे सत्र के दौरान भी पाकिस्तान के शरजील खान और खालिद लतीफ को भ्रष्टाचार निरोधक आचार संहिता के तहत निलंबित करके स्वदेश भेज दिया गया था. बाद में संहिता के पांच प्रावधानों का उल्लंघन करने के लिये शरजील पर पांच साल और लतीफ पर 10 साल का प्रतिबंध लगाया गया था. शरजील अब क्रिकेट में वापसी करके कराची किंग्स के लिये खेल रहे हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें