वनडे सीरीज में राहुल खेलेंगे मध्यक्रम में, शॉ और अग्रवाल का डेब्‍यू तय

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

हैमिल्टन : न्यूजीलैंड के खिलाफ बुधवार से शुरू हो रही तीन मैचों की एकदिवसीय शृंखला के पहले मुकाबले में सलामी बल्लेबाजों पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल का पदार्पण लगभग तय है क्योंकि कप्तान विराट कोहली ने मध्यक्रम में लोकेश राहुल के बल्लेबाजी करने की पुष्टि की.

नियमित सलामी बल्लेबाज शिखर धवन तो पिछले महीने ही न्यूजीलैंड दौरे के टी20 और एकदिवसीय शृंखला से बाहर हो गये थे. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू वनडे के दौरान उनके बाएं कंधे में चोट लगी थी. उनके सलामी जोड़ीदार और टीम के उप-कप्तान रोहित शर्मा को मांसपेशियों में खिंचाव के कारण मंगलवार को तीन मैचों की एकदिवसीय और दो मैचों की टेस्ट शृंखला से बाहर कर दिया गया. इससे सलामी बल्लेबाजों के संयोजन में पूर्ण बदलाव की जरूरत हुई.

कोहली ने मंगलवार को कहा कि राहुल ऑस्ट्रेलिया शृंखला की तरह यहां भी विकेटकीपिंग के साथ मध्यक्रम में बल्लेबाजी करेंगे. कोहली ने कहा, पृथ्वी निश्चित रूप से पारी का आगाज करेगा.हमने एक और सलामी बल्लेबाज की मांग की है (रोहित की जगह अग्रवाल टीम में शामिल हो गये है). राहुल मध्य क्रम में बल्लेबाजी करेगा. हम चाहते हैं कि वह उस भूमिका में ढल जाए और अच्छा करें. कोहली ने कहा कि रोहित की अनुपस्थिति से टीम की तैयारियों पर असर नहीं पड़ेगा क्योंकि इस साल टी20 विश्व कप के कारण ज्यादा एकदिवसीय शृंखला नहीं है.

कोहली ने कहा, मैं समझता हूं कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है कि रोहित इस शृंखला का हिस्सा नहीं बन सकते. जब आप एकदिवसीय, टी20 और टेस्ट क्रिकेट के बारे में बात करते हैं, तो वह एक ऐसा खिलाड़ी है जो हमेशा पहली सूची में होता है. लेकिन इसके बाद हमें कोई एकदिवसीय शृंखला नहीं खेलनी है.

उन्होंने कहा, उसके लिए टीम से बाहर होना और ठीक होकर वापस आने का यह सही समय है. उसने टी20 अंतरराष्ट्रीय शृंखला खेली है, ऐसे में हम जब विश्व कप वर्ष की ओर बढ़ रहे हैं तो टीम के संतुलन के नजरिए से देखा जाए तो इससे हमारे संयोजन में फर्क नहीं पड़ता, खासकर टी20 के खेल में.

कोहली ने कहा कि धवन और रोहित का चोटिल होना शॉ और अग्रवाल के लिए अच्छा मौका हैं. उन्होंने कहा, रोहित की चोट दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन उसकी जगह जो टीम में शामिल हुआ है उसके लिए यह अनुभव हासिल करने का मौका है कि इस तरह की अपेक्षा और दबाव से कैसे निपटा जाता है. हमारे लिए यह देखना है कि वे कौन से खिलाड़ी हैं जो इन खिलाड़ियों की जगह ले सकते है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें