1. home Home
  2. religion
  3. to get rid of shani dosh on shani amavsya 2021 all zodiac signs including shani ki sade sati aur dhaiya people must follow these shaniwar ke tips upay totke remedies for tremendous benefits according to lal kitab smt

Shani Amavsya 2021 पर Shani Dosh से मुक्ति के लिए सभी राशि के जातक जरूर अपनाएं ये अचूक उपाय, होगा जबरदस्त लाभ

शनि अमावस्या 2021 आज है. हिंदू पंचांग के अनुसार आज आषाढ़ मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि है आज से ही शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि भी शुरू हो जाएगी. शनि देव की पूजा के लिए आज का दिन समर्पित होता है. शनि अमावस्या को शनिश्चरी अमावस्या भी कहा जाता है. इस अमावस्या पर पितरों का आशीर्वाद पा सकते हैं साथ ही साथ शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से प्रभावित जातक को शनि के प्रकोप से भी बच सकते हैं. इसके लिए उन्हें कुछ खास उपाय करने होंगे. आइये देखते हैं...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Shani Amavsya 2021, Shani Dosh Nivaran, Upay, Totke
Shani Amavsya 2021, Shani Dosh Nivaran, Upay, Totke
Prabhat Khabar Graphics

Shani Amavsya 2021, Shani Dosh Nivaran, Upay, Totke: शनि अमावस्या 2021 आज है. हिंदू पंचांग के अनुसार आज आषाढ़ मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि है आज से ही शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि भी शुरू हो जाएगी. शनि देव की पूजा के लिए आज का दिन समर्पित होता है. शनि अमावस्या को शनिश्चरी अमावस्या भी कहा जाता है. इस अमावस्या पर पितरों का आशीर्वाद पा सकते हैं साथ ही साथ शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से प्रभावित जातक को शनि के प्रकोप से भी बच सकते हैं. इसके लिए उन्हें कुछ खास उपाय करने होंगे. आइये देखते हैं...

शनि की स्थिति

दरअसल, फिलहाल मिथुन और तुला पर शनि की ढैया चल रही है. जबकि धनु, मकर और कुंभ पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है. वहीं, ज्योतिष गनणाओं के अनुसार इस वक्त शनि खुद की ही राशि मकर में वक्री अवस्था में विराजमान है. अर्थात वे अपनी उल्टी चाल चल रहे हैं. शनि की ऐसी अवस्था को अशुभ माना गया है. यही कारण है जातक आज निम्नलिखित उपायों को कर शनिदेव के प्रकोप से बच सकते हैं.

उड़द का दाल दान

आज शनि अमावस्या पर ढाई सौ या 7.50 सौ ग्राम उड़द का दाल दान करें. साथ ही साथ खिचड़ी बनाकर खुद व श्रद्धालुओं को भोग खिलाएं.

पीपल के वृक्ष की पूजा

कहा जाता है कि शनिदेव का वास पीपल के वृक्ष पर होता है. साथ ही साथ पितरों को भी पीपल के पूजा से प्रसन्न किया जा सकता है. ऐसे में आज पीपल की जड़ से दूध मिश्रित जल सीचें. ऐसा करने से कालसर्प दोष और पितृ दोष से लाभ मिलता है.

लाल किताब

सूखे नारियल का ऊपर से मुंह काटकर उसमें चीनी और आटा भर लें. अब नारियल का मुंह बंद कर दें. इसे काले धागे से लपेट दें. शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या जिनपर चल रही है उनके सिर के ऊपर से 7 बार इसे घूमाएं. फिर, किसी ऐसे स्थान, तीन काली चीटियां हो वहां नारियल को दबा दें. लाल किताब के अनुसार ये उपाय शनि दोष से मुक्ति पाना का अचूक उपाय है.

सरसों तेल अर्पित

लोहे के बर्तन में थोड़ा सरसों तेल लें. उसमें अपना चेहरा देखकर शनि मंदिर में दान कर दें. ऐसा सात शनिवार जरूर करें.

मछलियों को दाना खिलाएं

एक सादे कागज में 108 बार राम नाम लिखें. उसे आटे के साथ गूंथ लें. फिर जहां मछलियां हो वहां आटे के दाने डाथें ताकि मछलियां इसका सेवन कर सकें.

काले छाते का दान

शनि अमावस्या पर काले छाते का दान किसी जरूरतमंद को करें. इस दिन शनि स्त्रोत और शनि चालीसा का पाठ भी ध्यानपूर्वक करें.

तुलसी के पत्ते

तुलसी के पत्ते पर राम का नाम लिखकर. भक्त हनुमान जी को माला अर्पित करें.

शुद्ध आचरण बनाए रखें

शनि अमावस्या के दिन सात्विक भोजन करें. मांस मदिरा के सेवन से बचें. उधार लेन-देन या किसी से वाद-विवाद करने की भूल भी ना करें, सत्य वचन ही बोलें.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें