1. home Hindi News
  2. religion
  3. story reader jaya kishori said live life so that people behind your back praise

कथा वाचक जया किशोरी ने बताया, जीवन ऐसा जीओ कि आपके पीठ पीछे लोग तारीफ करें...

By Radheshyam Kushwaha
Updated Date
जया किशोरी कथा वाचक.
जया किशोरी कथा वाचक.

Jaya Kishori: हर व्यक्ति अपने तरीके से जीवन जीता है. सभी व्यक्ति का जीवन जीने का तरीका अलग-अलग होता है. कोई व्यक्ति अपना जीवन साधारण तरीके से जीता है तो कोई अपनी जिंदगी में कुछ ऐसा करना चाहता है, कि लोग उसे मरने के बाद भी याद करते है. कोई व्यक्ति समाज के लिए जीता है. कथा वाचक जया किशोरी अपने एक प्रवचन के माध्यम से लोगों को जिंदगी जीने का तरीका बताते हुए कहा कि अपनी जिंदगी को अपने मन से जीना चाहिए. लेकिन इस चीज पर विचार करे कि आपको अपना जीवन कैसे जीना है.

अगर एक साधारण जीवन की बात करें जिसमें व्यक्ति ने जन्म लिया, पढ़े-लिखे, शादी की, बच्चे हुए और मर गए. तो ऐसा जीवन जीना चाहते हैं तो जो मन में आये वो करें, पर क्या ये जीवन है. इसलिए कुछ ऐसा करें जिससे लोग आपके पीठ पीछे आपकी तारीफ करें, भले ही सामने वो ऐसा ना करें.

अगर व्यक्ति के अपने जीवन में कुछ अच्छा करना है तो उसके लिए अपनी संगत का जरूर ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि आप जैसी संगत में रहेंगे वैसा ही कार्य करेंगे. जैसे माता-पिता अपने उन बच्चों के साथ देखना चाहते हैं जो पढ़ाई में अच्छे होते हैं. क्योंकि वो आपसे ज्यादातर पढ़ाई की ही बात करेंगे. अगर ऐसे व्यक्तियों के साथ रहोगे, जिन्हें जीवन में कुछ करना नहीं है वैसे लोग आपको भी मार्ग से भटकाएंगे, इसलिए जीवन में इस बात का ध्यान रखें कि संगत बहुत महत्व रखती है. अगर आप भले ही लोगों के संग रहोगे तो हर काम भले ही भले होंगे.

जया किशोरी अपने प्रवचन में कहा कि जीवन के अंतिम समय में ये बात सामने नहीं आनी चाहिए कि हमने अपने जीवन में धन कमाने के अलावा कुछ अच्छे कर्म तो किये ही नहीं. देखा जाए तो धन कमाना आज के समय में बेहद जरूरी है, लेकिन उसके साथ क्या आपने जीवन में अच्छे कर्म और सेवा की.

अंतिम समय में जब यमराज आपके सामने खड़े होंगे तो आप कहेंगे कि मैने इतना पैसा कमाया ये सब ले लो बस 1 मिनट हमें ज्यादा दे दो. लेकिन वह समय आपको नहीं मिल पाये तो क्या फायदा इन चीजों में इतना पड़ने का, इसलिए धन कमाओं लेकिन अपने जीवन में अच्छे कर्म करना मन भूलो.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें