1. home Hindi News
  2. religion
  3. shravani mela 2021 date sawan kab se hai somvari kab hai deoghar temple shravani fair will not be held in baidyanath dham and basukinath due to increasing corona infection read details rdy

shravani mela 2021: कोरोना संक्रमण के कारण बैद्यनाथ धाम और बासुकीनाथ में नहीं लगेगा श्रावणी मेला, पढ़ें डिटेल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण बैद्यनाथ धाम और बासुकीनाथ में नहीं लगेगा श्रावणी मेला
बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण बैद्यनाथ धाम और बासुकीनाथ में नहीं लगेगा श्रावणी मेला
(फाइल फोटो).

shravani mela 2021: कोरोना संक्रमण के संभावित तीसरी लहर से बचाव के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है. अब कुछ ही दिनों में सावन का पवित्र महीना शुरू होने वाला है. झारखंड और बिहार में किसी भी धार्मिक स्थानों पर कावरियों का भीड़ न हो, इसके लिए श्रावणी मेला का आयोजन पर रोक लगा दी गई है. केंद्र और राज्य सरकार के दिशा निर्देश के अनुसार इस बार भी बाबा बैद्यनाथ धाम और बाबा बासुकीनाथ धाम में श्रावणी मेला का आयोजन नहीं होगा. राज्य सरकार ने निर्देश जारी किया है कि बासुकिनाथ मंदिर इस वर्ष भी सावन महीने के दौरान भक्तों के लिए नहीं खोला जायेगा. इस निर्देश के बाद बासुकिनाथ मंदिर में श्रद्धालु नहीं पहुंचे, इसके लिए जिला प्रशासन सक्रिय हो गया है.

संताल परगना प्रक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक सुदर्शन प्रसाद मंडल ने मंगलवार को झारखंड और बिहार के सीमावर्ती जिले के वरीय पुलिस अधिकारियों के साथ वचुर्अल बैठक की. इस दौरान पुलिस उपमहानिरीक्षक ने कहा कि कोराना संक्रमण से बचाव के राज्य सरकार ने प्रसिद्ध तीर्थ स्थल बाबा बैद्यनाथ धाम और बाबा बासुकीनाथ धाम स्थित मंदिरों में सावन महीने में लगने वाले श्रावणी मेला में लोगों का प्रवेश रोक लगाने का निर्देश दिया है.

संताल परगना के बैद्यनाथ धाम और बासुकीनाथ इन दोनों तीर्थ स्थानों पर लोगों की भीड़ नहीं जुटे इसका व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती जिले में सघन प्रचार अभियान चलाने का निर्णय लिया गया है.

उन्होंने अपील किया है कि जब तक केंद्र और राज्य सरकार द्वारा मंदिर खुलने और पूजा-अर्चना के लिए मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश की अनुमति से संबंधित कोई नया दिशा निर्देश नहीं आता है तब कोई भी श्रद्धालु इन तीर्थ स्थलों पर आने से बचें और घर में ही बाबा भोलेनाथ की अराधना करें.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें