1. home Home
  2. religion
  3. bhaum pradosh vrat 2021 date time and significance shubh muhurat pradosh vrat remedies to get rid of money crisis sry

Pradosh Vrat 2021: आज है कार्तिक मास का दूसरा प्रदोष व्रत, कर्ज मुक्ति के लिए इस दिन करें उपाय

हर माह में 2 प्रदोष व्रत रखे जाते हैं एक कृष्ण पक्ष में और दूसरा शुक्ल पक्ष में मानते हैं. कार्तिक मास का दूसरा प्रदोष व्रत शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी को मनाया जाएगा. आज यानी 16 नवंबर के दिन शिव भक्त प्रदोष व्रत कर रहे हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bhaum Pradosh Vrat 2021, date time and significance
Bhaum Pradosh Vrat 2021, date time and significance
Prabhat Khabar Graphics

Pradosh Vrat 2021: आज है कार्तिक मास का दूसरा प्रदोष व्रत, कर्ज मुक्ति के लिए इस दिन करें उपाय

हिंदू धर्म में सभी व्रत और त्योहारों का अपना अलग महत्व है. सभी व्रतों का फल अलग होता है और मनोकामनाओं की पूर्ति हेतु भक्त जन व्रत पूरी श्रद्धा पूर्वक करते हैं. हर माह की त्रयोदशी तिथि को प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat 2021) मनाया जाता है. मान्यता के मुताबिक हर माह में 2 प्रदोष व्रत रखे जाते हैं एक कृष्ण पक्ष में और दूसरा शुक्ल पक्ष में मानते हैं. कार्तिक मास का दूसरा प्रदोष व्रत शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी को मनाया जाएगा. आज यानी 16 नवंबर के दिन शिव भक्त प्रदोष व्रत कर रहे हैं. हालांकि अनेकों फल देने वाला ये प्रदोष व्रत इस बार मंगलवार को होने के कारण उसे भौम प्रदोष व्रत (Bhaum Pradosh Vrat 2021) कहेंगे.

ऐसे मिलेगी कर्ज से मुक्ति

भौम प्रदोष व्रत के दिन शिव के साथ हनुमान जी का भी आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता हैं इस दिन प्रदोष व्रत रखने से शिव शीघ्र ही प्रसन्न होते हैं और भक्तों पर कृपा करते हैं भक्तों के सभी संकट दूर करन उनकी सभी इच्छाएं भी पूर्ण करते हैं इस दिन व्रत रखने के साथ साथ कुछ उपाय करने करने से कर्ज से मुक्ति पाई जा सकती हैं तो आज हम आपको उन्हीं उपायों के बारे में बता रहे हैं तो आइए जानते हैं.

जानिए कर्ज मुक्ति के अचूक उपाय

अगर आपके सिर पर कर्ज चढ़ा हुआ है और आप उससे छुटकारा पाना चाहते हैं तो भौम प्रदोष व्रत के दिन कर्ज मुक्ति के लिए हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए ऐसा करना लाभदायी साबित होगा. कहते हैं कि इस दिन मंगलदेव के 21 या 108 नामों कापाठ करने से कर्ज से जल्दी मुक्ति मिल जाती हैं पूरा दिन व्रत रखकर शाम के समय हनुमान जी और भगवान भोलेनाथ की पूजा की जाती हैं इससे कुंडली में उपस्थित मंगल दोष शांत हो जाता हैं वही अगर संभव हो तो इस दिन हनुमान मंदिर में जाकर चालीसा पठ कर बजरंगबली को बूंदी के लड्डू चढ़ाएं। इसके बाद व्रतधारी व्रत का पारण अन्न ग्रहण करें.

भौम प्रदोष व्रत का शुभ मुहूर्त (Bhaum Pradosh Vrat Shubh Muhurat 2021)

  • कार्तिक मास शुक्ल पक्ष तिथि आरंभ- 16 नवंबर 2021 प्रातः 10 बजकर 31 मिनट से शुरु होकर

  • कार्तिक मास शुक्ल पक्ष तिथि समाप्त- 17 नवंबर 2021 दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर होगा.

  • जानिए पूजन शुभ मुहूर्त

  • पूजन का शुभ मुहुर्त शाम 6 बजकर 55 मिनट से लेकर 8 बजकर 57 मिनट तक

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें