इस मकर संक्रांति कार्टून कैरेक्टर पतंग की मांग सबसे अधिक, आकाश में दिखेंगे पब्जी, डोरेमोन, बार्बी डॉल

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की है पुरानी परंपरा
रांची :
दान-पुण्य का महापर्व मकर संक्रांति 15 जनवरी को मनाया जाएगा. मकर संक्रांति का त्योहार हो और पतंगों की बात ना हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता. मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की परंपरा प्राचीन है. इस दिन क्या बच्चे-क्या बड़े सभी पतंगबाजी का आनंद लेना चाहते हैं.

बाजार में भी मंकर संक्रांति को देखते हुए विभिन्न तरह के पतंग से दुकानें सजी हुई है. पतंग दुकान संचालक मुख्तार अंसारी ने बताया कि इस बार कुछ अलग तरह की पतंग नहीं है. जो भी है रनिंग वाला काइट ही है. लेकिन प्रिंटेड पतंग में बच्चों के लिए कार्टून कैरेक्टर वाला उपलब्ध है, जिसे बच्चे काफी पसंद कर रहे हैं. इसमें पब्जी, डोरेमोन, बार्बी डॉल आदि शामिल है.
उन्होंने कहा कि आज के बच्चे पतंग,गुड्डी और लट्टू खेल के बारे में पता ही कहां है. अब कुछ लोग ही हैं जो इसे जिंदा रखे हुए हैं. आज के बच्चों को डिजिटल गेम से ही मतलब रहता है. इस बार पेपर पतंग 300 रुपये सैकड़ा, प्लास्टिक पतंग 200 रुपये सैंकड़ा एवं प्रिंटेड पतंग 350 रुपये सैकड़ा है. इसमें ज्यादातर लोग प्लास्टिक पतंग ही लेना पसंद करते हैं. क्योंकि यह जल्दी फटता नहीं है.
जबकि पतंग उड़ाने के लिए लटाई 15 से 50 रुपये तक है. इसके अलावा बड़ा पतंग 5 से 10 रुपये तक है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें