1. home Hindi News
  2. national
  3. western tripura dm stayed first wedding ceremony apologized for the video went viral on social media politics intensified in the state vwt

पश्चिमी त्रिपुरा के डीएम ने पहले शादी समारोह को रोका, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने पर मांगी माफी, सूबे में राजनीति तेज

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
शादी समारोह को रुकवाते डीएम शैलेश कुमार यादव.
शादी समारोह को रुकवाते डीएम शैलेश कुमार यादव.
फोटो साभार : OpIndia

अगरतला : देश में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान जहां केंद्र और राज्य सरकारें एहतियाती उपायों के तहत लॉकडाउन लगाकर लोगों को घरों से बाहर निकलने का प्रबंध कर रही हैं. वहीं, पूर्वोत्तर के राज्य त्रिपुरा के पश्चिमी त्रिपुरा जिले से एक बड़ा ही दिलचस्प मामला सामने आया है. इस जिले के डीएम शैलेश कुमार यादव ने मानिक्या कोर्ट में एक शादी समारोह को रुकवाकर कई लोगों को गिरफ्तार करते हैं और फिर सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद अदालत में उसके लिए माफी भी मांगते हैं. उनकी इस कार्रवाई के बाद राज्य में राजनीति तेज हो गई है.

सोशल मीडिया पर वीडियो हो गया वायरल

इस घटना को लेकर माफी मांगते हुए डीएम शैलेश कुमार यादव ने कहा कि उनका मकसद किसी की भावनाओं को आहत करना नहीं था. उधर, खबर यह भी है कि सूबे के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने मुख्य सचिव मनोज कुमार से घटना को लेकर एक रिपोर्ट तलब किया है, जबकि यहां का प्रमुख विपक्षी दल के नेता माणिक सरकार और उनकी पार्टी सीपीआईएम ने इस घटना को अवांछित करार देते हुए डीएम पर हमला बोला है.

दुल्हन को स्टेज से उतारा

छापेमारी की कार्रवाई के दौरान डीएम यादव ने दुल्हन को स्टेज से उतरने का भी आदेश दिया. वहीं, बाकी अधिकारी शादी में आए मेहमानों को मैरिज हॉल से बाहर निकालने में जुट गए. वायरल वीडियो में गुस्से में दिख रहे डीएम की भाषा भी अमर्यादित दिखाई दे रही थी. यादव ने कहा कि मैरिज हॉल में सभी लोग सीआरपीसी की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेशों के सीधे उल्लंघन कर रहे थे. उन्होंने कहा कि उन पर कार्रवाई की जाएगी. इस दौरान करीब 30 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया, जिन्हें बाद में रिहा कर दिया गया.

डीएम ने पुलिस पर लगाया प्रशासन का सहयोग नहीं करने का आरोप

इसके साथ ही, डीएम यादव ने प्रशासन के साथ सहयोग नहीं करने के लिए पुलिस के खिलाफ नाराजगी भी जाहिर की. डीएम ने राज्य सरकार से पूर्वी अगरतला पुलिस स्टेशन के प्रभारी अधिकारी (ओसी) और कुछ ऑन-ड्यूटी पुलिस कर्मियों को निलंबित करने की सिफारिश की है, जिन्हें जिला मजिस्ट्रेट के आदेश की अवहेलना करते देखा गया था.

सूबे में राजनीति तेज

उधर, विपक्षी नेता माणिक सरकार और सीपीआईएम ने इस घटना को 'अवांछित' करार देते हुए डीएम पर हमला बोल दिया है. उन्होंने ऐसे व्यवहार के लिए डीएम के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की मांग की. इसके अलावा, पश्चिमी त्रिपुरा की सांसद और भाजपा की नेता प्रतिमा भौमिक ने कहा कि वह दुल्हन के रिश्तेदारों से मिलने जाएंगी और उनसे इस घटना के बारे में जानकारी हासिल करेंगी.

Posted by : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें