1. home Hindi News
  2. national
  3. us media calls capitol hill violence deadly attack on democracy threatens trump the new york times the washington post avd

US Capitol Hill Violence : कैपिटल हिल हिंसा को अमेरिकी मीडिया ने बताया, 'लोकतंत्र पर घातक हमला', ट्रंप को खतरा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कैपिटल हिल हिंसा को अमेरिकी मीडिया ने बताया, 'लोकतंत्र पर घातक हमला'
कैपिटल हिल हिंसा को अमेरिकी मीडिया ने बताया, 'लोकतंत्र पर घातक हमला'
pti photo

अमेरिकी संसद (US Capitol Hill Violence) के अंदर निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के समर्थकों द्वारा किये गये हमले की इस समय देश-दुनिया में कड़ी निंदा की जा रही है. हर कोई इस हमले के लिए ट्रंप को दोषी ठहरा रहा है. इधर इस हमले पर अमेरिकी मीडिया (American media) में भी जबरदस्त गुस्सा नजर आया है. अमेरिकी मीडिया ने कैपिटल पर निर्वतमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों के हमले के बाद ट्रंप को एक ‘खतरा' करार दिया है और कहा है कि वह कार्यालय में रहने के योग्य नहीं हैं, इसलिए उन्हें पद से हटाया जाए. अमेरिकी मीडिया ने ट्रंप को महाभियोग प्रक्रिया या आपराधिक मुकदमे के तहत जिम्मेदार ठहराने की मांग की है. आइये अलग-अलग अखबारों की सुर्खियों और संपादकीय के बारे में जानें.

कैपिटल हमले के लिए ट्रंप को दोषी ठहराया जाए : द न्यूयॉर्क टाइम्स

द न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक संपादकीय का शीर्षक ‘ कैपिटल हमले के लिए ट्रंप को दोषी ठहराया जाए' लगाया है. इस संपादकीय में कहा गया है कि राष्ट्रपति ट्रंप और उनके प्रयासों का समर्थन करने वाले रिपब्लिकन को बुधवार की हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहराया जाए. यह हमला उस सरकार के खिलाफ है, जिसका वह नेतृत्व करते हैं और उस देश के खिलाफ है, जिससे प्रेम करने की शपथ उठाते हैं. इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. द न्यूयॉर्क टाइम्स ने छह जनवरी, 2021 को ‘काला दिन' बताया.

US Capitol Hill Violence : कैपिटल हिल हिंसा को अमेरिकी मीडिया ने बताया, 'लोकतंत्र पर घातक हमला', ट्रंप को खतरा

द वॉशिंगटन पोस्ट ने हमले के लिए ट्रंप को जिम्मेदार ठहराया और उन्हें हटाने की मांग की

द वॉशिंगटन पोस्ट ने अपने संपादकीय का शीर्षक 'ट्रंप की वजह से कैपिटल परिसर में हमला और उन्हें जरूर हटाया जाना चाहिए' लगाया है. संपादकीय में कहा गया है कि चुनावी हार को स्वीकार करने से इनकार करने और लगातार अपने समर्थकों को उकसाने की वजह से हिंसक भीड़ ने कैपिटल बिल्डिंग पर हमला किया. पोस्ट ने संपादकीय में कहा कि राजद्रोह के इस कृत्य की जिम्मेदारी राष्ट्रपति पर है क्योंकि उन्होंने दिखाया है कि कार्यालय में उनका बने रहना, अमेरिकी लोकतंत्र के लिए गंभीर खतरा है. ट्रंप अगले 14 दिन तक कार्यालय में बने रहने के ‘योग्य नहीं हैं.

US Capitol Hill Violence : कैपिटल हिल हिंसा को अमेरिकी मीडिया ने बताया, 'लोकतंत्र पर घातक हमला', ट्रंप को खतरा
pti photo

संपादकीय में कहा गया है कि उप राष्ट्रपति माइक पेंस को तत्काल मंत्रिमंडल की बैठक बुलानी चाहिए और संविधान के 25वें संशोधन का इस्तेमाल करना चाहिए. ट्रंप खतरा हैं और जब तक वे व्हाइट हाउस में रहेंगे तो देश को खतरा बना रहेगा.

US Capitol Hill Violence : कैपिटल हिल हिंसा को अमेरिकी मीडिया ने बताया, 'लोकतंत्र पर घातक हमला', ट्रंप को खतरा
pti photo

usa today ने हेडलाइन दिया - ट्रम्प की भीड़ ने वाशिंगटन को लॉकडाउन के लिए किया मजबूर

यूएसए टूडे ने हेडलाइन दिया और लिखा, ट्रंप की भीड़ ने वाशिंगटन को लॉकडाउन के लिए मजबूर किया. यूएसए टूडे ने आगे लिखा, कैसे ट्रंप समर्थकों ने कैपिटल हिला को हिला दिया.

US Capitol Hill Violence : कैपिटल हिल हिंसा को अमेरिकी मीडिया ने बताया, 'लोकतंत्र पर घातक हमला', ट्रंप को खतरा

गौरतलब है कि ट्रंप के हजारों समर्थक बुधवार को कैपिटल हिल में घुस आये और इस दौरान पुलिस के साथ उनकी हिंसक झड़प हुई. इस घटना में कम से कम चार लोगों की मौत हो गई.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें