1. home Home
  2. national
  3. twitter war of congress and tmc prashant kishor message bhupesh baghel reply rahul gandhi mamta banerjee prt

विपक्षी एकता की खुली पोल, ट्वीटर पर भिड़ी कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस, क्या 2024 से पहले ही बिखर जाएगा विपक्ष!

लोकसभा चुनाव को लेकर विपक्षी दल एकजुट होकर चुनाव लड़ने की सपने संजो रहा है. लेकिन टीएमसी और कांग्रेस में ट्वीटर वार छिड़ा है. दोनोंं ओर से आरोप प्रत्यारोप लगाये जा रहे हैं. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या 2024 चुनाव से पहले ही बिखर जाएगा विपक्ष.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
क्या 2024 से पहले ही बिखर जाएगा विपक्ष!
क्या 2024 से पहले ही बिखर जाएगा विपक्ष!
Social Media

कांग्रेस (Congress) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) में ट्वीटर वॉर छिड़ा हुआ है. दोनों दलों के बीच कोल्ड वॉर उस समय और गहरा गया जब चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने लखीमपुर मामलो को लेकर कांग्रेस और राहुल गांधी को लेकर कुछ बात कह दी. प्रशांत किशोर की बात का जवाव देते हुए छत्तीसगढ़ के सीएम और पार्टी के वरिष्ठ नेता भूपेश बघेल ने भी पलटवार कर दिया. जिसके बाद दोनों दलों के बीच राजनीति जंग सी छिड़ गई है.

प्रशांत किशोर ने कया कहा: प्रशांत किशोर ने गुरुवार को एक ट्वीट किया. जिसमें उन्होंने कहा कि जिन लोगों को लगता है कि लखीमपुर कांड के कारण कांग्रेस की अगुवाई में विपक्ष त्वरित वापसी करेगा, वो लोग गलतफहमी में हैं. इसके बाद उन्होंने ट्वीट में लिखा कि, दुर्भाग्य से ग्रैंड ओल्ड पार्टी की गहरी समस्याओं और कमजोरियों को दूर करने के लिए फिलहाल कोई समाधान नहीं है.

बघेल ने क्या किया पलटवार, ममता बनर्जी पर साधा निशाना: इधर, प्रशांत किशोर के ट्वीट के बाद छत्तीगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट में ही जवाब दिया. अपने ट्वीट में बघेल ने कहा कि, चुनाव में अपनी सीट भी नहीं जीत पाने वाले राष्ट्रीय विकल्प बनने की कोशिश में हैं. यह उनकी गलतफहमी है. उन्होंने कहा कि एक राष्ट्रीय विकल्प बनने के लिए गहरी जड़ें और ठोस प्रयासों की जरूरत होती है. दुर्भाग्य से इसका कोई त्वरित समाधान नहीं है. जाहिर है जिस अंदाज में प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया था, बघेल ने भी उसी अंदाज में जवाब दिया है. हालांकि बघेल ने अपने ट्वीट में किसी का नाम नहीं लिया.

बघेल का ट्वीट का टीएमसी ने किया पलटवार: वहीं बघेल के ट्वीट के बाद टीएमसी की ओर से पलटवार किया गया. टीएमसी ने इसे पार्टी आलाकमान को खुश करने का घटिया प्रयास करार दिया. टीएमसी ने ट्वीट कर कहा कि, ट्वीटर ट्रेंड के जरिए कांग्रेस अमेठी की ऐतिहासिक हार को मिटाने का प्रयास कर रही है.

जाहिर है टीएमसी का इशारा राहुल गांधी की तरफ था. जो इस सीट से चुनाव हार गये थे. बहरहाल, एक तरफ लोकसभा चुनाव को लेकर विपक्षी दल एकजुट होकर चुनाव लड़ने की सपने संजो रहा है. ऐसे में टीएमसी और कांग्रेस के बीच घमासान किसी झटके से कम नहीं है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें