1. home Hindi News
  2. national
  3. twitter strong disapproval of government misrepresentation of india map part of china latest news updates prt

ट्विटर ने जम्मू-कश्मीर को बताया चीन का हिस्सा, भारत सरकार ने दी सख्त चेतावनी, कहा- निष्पक्षता पर सवाल

By Agency
Updated Date
भारत सरकार ने ट्विटर को दी सख्त चेतावनी
भारत सरकार ने ट्विटर को दी सख्त चेतावनी
Prabhat Khabar

भारत सरकार (Government of India) ने देश का गलत मानचित्र (Wrong Map of India) दिखाने को लेकर ट्विटर (Twitter) को सख्त चेतावनी दी है.सरकार ने कहा है कि देश की संप्रभुता और अखंडता (Sovereignty and integrity) का असम्मान करने का ट्विटर का हर प्रयास अस्वीकार्य है.सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मंत्रालय के सचिव अजय साहनी ने इस बारे में ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) जैक डोर्सी को कड़े शब्दों में एक पत्र लिखा है.साहनी ने कहा कि इस तरह का कोई भी प्रयास न सिर्फ ट्विटर की प्रतिष्ठा को कम करता है, बल्कि यह एक माध्यम होने के नाते ट्विटर की निष्पक्षता को भी संदिग्ध बनाता है.

खास बातें :-

  • ट्विटर ने दिखाया देश का गलत मानचित्र

  • भारत सरकार ने दी सख्त चेतावनी

  • कहा- संप्रभुता और अखंडता का असम्मान करने का ट्विटर का हर प्रयास अस्वीकार्य है

  • ट्विटर की निष्पक्षता भी संदिग्ध - साहनी

  • जम्मू-कश्मीर को बताया चीन का हिस्सा

  • लद्दाख और जम्मू-कश्मीर दोनों भारत के अभिन्न व अविभाज्य अंग

मंत्रालय के सूत्रों ने पीटीआई-भाषा से कहा कि साहनी ने भारत का गलत मानचित्र दिखाने को लेकर सरकार की नाराजगी जताते हुए ट्विटर सीईओ को कड़े शब्दों में पत्र लिखा है.उल्लेखनीय है कि ट्विटर ने लेह की भौगोलिक स्थिति बताते हुए उसे पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के जम्मू-कश्मीर का हिस्सा बता दिया था.

साहनी ने अपने पत्र में ट्विटर को याद दिलाया है कि लेह केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख का मुख्यालय है.पत्र में कहा गया है कि लद्दाख और जम्मू-कश्मीर दोनों भारत के अभिन्न व अविभाज्य अंग हैं तथा भारत के संविधान से प्रशासित हैं.सरकार ने ट्विटर को भारतीय नागरिकों की संवेदनशीलता का सम्मान करने को कहा है.

सरकार ने यह भी साफ कहा है कि भारत की संप्रभुता व अखंडता का असम्मान करने का ट्विटर का कोई भी प्रयास (जैसा कि मानचित्र के मामले में किया गया है), पूरी तरह से गैरकानूनी और अस्वीकार्य है.

Posted by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें