1. home Hindi News
  2. national
  3. tension on oxygen in delhi up and haryana accusations continue on the supply of life saving gas vwt

ऑक्सीजन को लेकर दिल्ली, यूपी और हरियाणा में सिर फुटौव्वल, जीवनरक्षक गैस की आपूर्ति पर आरोप-प्रत्यारोप जारी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी.
अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी.
फाइल फोटो.

नई दिल्ली : कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से होने वाली बढ़ोतरी के बीच ऑक्सीजन की कमी और इसकी आपूर्ति को लेकर फिलहाल राजनीति भी गरमा गई है. इस समय ऑक्सीजन की आपूर्ति पाने के लिए दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में सिर फुटौव्वल जारी है. आलम यह कि उत्तर प्रदेश दिल्ली पर आरोप लगा रहा है, तो दिल्ली हरियाणा पर. उधर, हरियाणा दिल्ली पर ऑक्सीजन चुराने का आरोप लगा रहा है.

उत्तर प्रदेश ने आरोप लगाते हुए कहा है कि दिल्ली द्वारा अपनपे हिस्से ज्यादा की ऑक्सीजन लेने की वजह से सूबे के अस्पतालों में ऑक्सीजन की किल्लत हो गई है. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के एक अधिकाारी ने कहा कि राज्य के अस्पतालों में ऑक्सीजन का संकट पैदा हो गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने को लेकर बातचीत की है. उन्होंने कहा कि दिल्ली को ज्यादा ऑक्सीजन दी है, जिससे उत्तर प्रदेश में संकट पैदा हो गया है.

उधर, दिल्ली में हरियाणा पर आरोप लगाते हुए कहा कि हरियाणा के अधिकारी ने ऑक्सीजन की आपूर्ति रोक दी. दिल्ली में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया का आरोप है कि हरियाणा सरकार के एक अधिकारी ने फरीदाबाद के एक प्लांट से दिल्ली के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति रोक दी. उन्होंने कहा कि राज्यों के लिए ऑक्सीजन का कोटा केंद्र निर्धारित करता है और हमारी सरकार केंद्र से दिल्ली के लिए ऑक्सीजन कोटा 378 मीट्रिक टन से बढ़ा कर 700 मीट्रिक टन करने की मांग की है.

इसके अलावा, हरियाणा ने दिल्ली सरकार पर ऑक्सीजन लूटने का आरोप लगाया है. हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज का आरोप है कि अस्पताल में भर्ती कोरोना के मरीजों के लिए ऑक्सीजन लेकर पानीपत से फरीदाबाद जा रहे एक टैंकर को दिल्ली सरकार द्वारा लूट लिया गया और कहा कि सभी ऑक्सीजन टैंकरों का आवागमन अब पुलिस सुरक्षा में होगा. विज ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के कारण ऑक्सीजन की मांग बढ़ गई है. ऐसे में, हरियाणा दूसरों को आपूर्ति तभी कर सकता है, जब उसकी अपनी मांग पूरी हो जाए.

Posted by : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें