1. home Hindi News
  2. national
  3. sputnik v corona vaccine drug controller general of india dcgi has approved emergency use authorisation of russian vaccine amh

DCGI से स्पुतनिक V के इस्तेमाल को मिली मंजूरी, भारत में हर साल वैक्सीन की 85 करोड़ से अधिक खुराक होंगी तैयार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
corona vaccine
corona vaccine
pti
  • दुनिया भर के 60 देशों में उपयोग के लिए स्वीकृत

  • डॉ. रेड्डीज को डीसीजीआई से सीमित आपातकालीन उपयोग के लिए स्पुतनिक की मंजूरी मिली

  • कंपनी ने इस संबंध में शेयर बाजार को जानकारी दी

डॉ. रेड्डीज को डीसीजीआई से सीमित आपातकालीन उपयोग के लिए स्पुतनिक की मंजूरी मिल गई है. यह जानकारी प्रमुख दवा कंपनी डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरीज ने दी है. डॉ. रेड्डीज ने मंगलवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि उसे कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक के सीमित आपातकालीन उपयोग के लिए भारतीय दवा नियामक यानी DCGI से मंजूरी मिल चुकी है.

रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने जानकारी दी है कि भारत में हर साल स्पुतनिक वी वैक्सीन की 85 करोड़ से अधिक खुराक तैयार होंगी.

इधर डॉ. रेड्डीज कंपनी ने इस संबंध में शेयर बाजार को जानकारी दी कि उसे दवा और कॉस्मेटिक्स कानून के तहत नए दवा एवं चिकित्सकीय परीक्षण नियम, 2019 के प्रावधानों के अनुसार आपातकालीन स्थितियों में प्रतिबंधित उपयोग के लिए भारत में स्पुतनिक वैक्सीन आयात करने की अनुमति दी गई है.

यहां चर्चा कर दें कि डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरीज ने सितंबर 2020 में स्पुतनिक वैक्सीन के नैदानिक ​​परीक्षणों का संचालन करने और भारत में वैक्सीन वितरित करने के लिए रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) के साथ भागीदारी में अहम भूमिका निभाई थी. आरडीआईएफ द्वारा रूस में किए गए परीक्षणों के अलावा, डॉ. रेड्डीज ने भारत में वैक्सीन के चरण दो और तीन के नैदानिक ​​परीक्षण करने का काम किया है.

डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरीज सह-अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक जी वी प्रसाद ने मंजूरी मिलने के बाद आपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि भारत में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के साथ, कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई में वैक्सीनेशन की भूमिका सबसे अहम है. इससे हम देश की बडी जनसंख्या को वैक्सीन लगाने के देश के प्रयास में योगदान करने में सक्षम हो पाएंगे.

डॉ. रेड्डीज ने कहा कि स्पुतनिक वी को अब तक दुनिया भर के 60 देशों में उपयोग के लिए स्वीकृत करने का काम किया जा चुका है.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें