1. home Hindi News
  2. national
  3. special session of parliament should be called to discuss the deteriorating situation from corona shiv sena congress demand aml

कोरोना से बिगड़ते हालात पर चर्चा के लिए बुलाया जाए संसद का विशेष सत्र, शिवसेना-कांग्रेस ने की मांग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कोरोना से बिगड़ते हालात पर चर्चा के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाने की मांग.
कोरोना से बिगड़ते हालात पर चर्चा के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाने की मांग.
PTI Photo

नयी दिल्ली : देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है. पिछले 24 घंटे में जहां 2 लाख 70 हजार से ज्यादा नये मामले सामने आये हैं, वहीं 1,619 लोगों की मौत हो गयी. कुछ सांसदों ने इस विकट परिस्थिति पर चर्चा के लिए संसद का विशेष सत्र (Parliament Special session) बुलाने की मांग की है. कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी (Manish Tewari) और शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने मांग की है कि संसद का विशेष सत्र बुलाकर इसपर चर्चा करना चाहिए और आगे की रणनीति बनायी जानी चाहिए.

कांग्रेस के सांसद मनीष तिवारी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मांग की है कि कोरोना महामारी से पैदा हुए हालात पर चर्चा के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाया जाए. यह सत्र कम से कम दो दिनों का हो. उन्होंने कहा कि देश भर में टीकाकरण सही तरीके से हो नहीं रहा है. अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी है. आज परिस्थिति इतनी बिगड़ गयी है कि शवों के अंतिम संस्कार के लिए भी घंटो लग रहे हैं. इस पर संसद में चर्चा होनी ही चाहिए.

मनीष तिवारी ने कहा कि मैं भारत के राष्ट्रपति से मांग करता हूं कि अपने अधिकारों का प्रयोग करते हुए तत्काल संसद का आपालकालीन सत्र बुलाएं और इस पर दो दिनों तक चर्चा करवाएं. उन्होंने कहा कि ऐसा न हो कि हालात और अधिक बिगड़ जाएं और सब कुछ हमारी नियंत्रण से बाहर हो जाए. बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने आज रात से 6 दिनों के लिए संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया है.

वहीं, शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाने की मांग की है. उन्होंने भी कहा कि सत्र कम से कम दो दिनों का हो. चर्चा के बाद जरूरी सुझावों पर सरकार विचार करे और इस स्थिति से निपटने के लिए इन सुझावों पर अमल भी करे. उन्होंने कहा कि यह युद्ध जैसे हालात हैं. सभी जगहों पर भ्रम और तनाव फैला हुआ है. अस्पतालों में बेड नहीं है, ऑक्सीजन की घोर कमी है. इस पर चर्चा होनी ही चाहिए.

राज्यसभा के सदस्य राउत ने कहा कि अगर सरकार इस स्थिति पर नियंत्रण नहीं कर पाई तो अराजकता फैल जायेगी. उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि कुछ राज्य कोरोना का आंकड़ा छुपा रहे हैं. बता दें कि देश में एक दिन में रिकॉर्ड 2,73,810 नये मामले सामने आने के साथ ही संक्रमण के कुल मामले 1.50 करोड़ के पार पहुंच गये हैं. देश में एक्टिव मामले 19 लाख से अधिक हो गये हैं. अब तक 1,78,769 लोगों की मौत इस वायरस के संक्रमण से हो गयी है.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें