1. home Hindi News
  2. national
  3. shoaib akhtar offered the indo pak series to raise funds in the war against the corona virus

शोएब अख्तर ने कोरोना वायरस से जंग में धन जुटाने के लिए भारत- पाक सीरीज की पेशकश की

By Mohan Singh
Updated Date
तीन मैचों की वनडे क्रिकेट श्रृंखला आयोजित करने का प्रस्ताव रखा.
तीन मैचों की वनडे क्रिकेट श्रृंखला आयोजित करने का प्रस्ताव रखा.
Pic source - twitter

नयी दिल्ली : पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भारत और पाकिस्तान में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिये धन जुटाने के मकसद से दोनों देशों के बीच तीन मैचों की वनडे क्रिकेट श्रृंखला आयोजित करने का प्रस्ताव रखा.

पाकिस्तान स्थित एक संगठन द्वारा भारत पर 2008 में आतंकवादी हमले के बाद से दोनों देशों ने एक दूसरे के खिलाफ पूर्ण श्रृंखला नहीं खेली है .दोनों का सामना आईसीसी टूर्नामेंटों और एशिया कप में हुआ है.

शोएब ने इस्लामाबाद से प्रेस ट्रस्ट से कहा ,‘‘संकट के इस दौर में मैं दोनों देशों के बीच तीन मैचों की श्रृंखला का प्रस्ताव रखता हूं. पहली बार इस श्रृंखला का नतीजा कुछ भी निकले , दोनों देशों में से किसी के क्रिकेटप्रेमियों को दुख नहीं होगा.

उन्होंने कहा ,‘‘विराट कोहली शतक जमाता है तो हम खुश होंगे. बाबर आजम शतक ठोकता है तो आप खुश होंगे. मैच का नतीजा जो भी निकले, दोनों टीमें विजयी होंगी . उन्होंने कहा ,‘‘ इस मैच को काफी दर्शक मिलेंगे. पहली बार दोनों देश एक दूसरे के लिये खेलेंगे.

इससे जो भी पैसा मिले , वह कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिये दोनों देशों में बराबर बांट दिया जाये . शोएब ने कहा ,‘‘ इस समय सभी घरों में बैठे हैं तो वे ये मैच देखेंगे . भले ही अभी नहीं , लेकिन जब हालात दुरूस्त होने लगे तो ये दुबई में खेले जा सकते हैं.इसके लिये चार्टर्ड फ्लाइट का इंतजाम किया जा सकता है

उन्होंने कहा ,‘‘ इससे दोनों देशों के राजनयिक संबंध भी सुधर सकते हैं . उन्होंने यह भी कहा कि संकट के इस दौर में दोनों देशों को एक दूसरे की मदद करनी चाहिये. उन्होंने कहा ,‘‘ भारत अगर हमें 10000 वेंटिलेटर देता है तो पाकिस्तान इसे हमेशा याद रखेगा.

हम तो सिर्फ मैचों की पेशकश कर सकते हैं. बाकी अधिकारियों को तय करना हे. पाकिस्तान के स्टार क्रिकेटर शाहिद अफरीदी की चैरिटी की मदद का अनुरोध करने वाले भारतीय क्रिकेटरों युवराज सिंह और हरभजन सिंह की आलोचना के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा ,‘‘ यह अमानवीय है. इस समय देश या मजहब की बात नही, इंसानियत की बात होनी चाहिये

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें