1. home Hindi News
  2. national
  3. rtpcr test come negative even then you can be corona positive experts said rjh

क्या आपका RTPCR टेस्ट निगेटिव आया? तब भी आप हो सकते हैं कोरोना पाॅजिटिव, इस टेस्ट से सच्चाई आती है सामने...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Corona test
Corona test
PTI
  • छाती के सीटीस्कैन में होता है संक्रमण का खुलासा

  • शुरुआती दौर में ही छाती में फैल रहा है संक्रमण

  • एचआरसीटी चेस्ट कराने की सलाह दे रहे हैं डाॅक्टर

अगर आपने अपना आरटीपीसीआर टेस्ट कराया है और आपकी रिपोर्ट निगेटिव आयी है तो लापरवाह ना बनें, अगर आपको जरा सी शारीरिक समस्या हो तो तुरंत अपनी छाती का सीटीस्कैन करायें और डाॅक्टर की राय ले.

विशेषज्ञों और डाॅक्टरों का कहना है कि जब से कोरोना का नया वैरिएंट आया है, आरटीपीसीआर टेस्ट की प्रमाणिकता 70 प्रतिशत ही बची है. कई ऐसे केस आये हैं, जिसमें आरटीपीसीआर टेस्ट निगेटिव होने के बाद भी मरीज कोरोना पाॅजिटिव पाया गया है.

यही वजह है कि आजकल डाॅक्टर आरटीपीसीआर और सीटी स्कैन दोनों ही कराने की सलााह मरीजों को दे रहे हैं.डाॅक्टर कह रहे हैं कि जिस तरह संक्रमण के शुरुआती दौर में ही वायरस का प्रकोप फेफड़ों तक पहुंच रहा है वह चिंताजनक है. इसलिए हम मरीजों को आरटीपीसीआर के साथ-साथ एचआरसीटी चेस्ट कराने की सलाह दे रहे हैं. कोरोना के नये वैरिएंट में लक्षण भी अलग-अलग तरह के आ रहे हैं.

दूसरी लहर में क्या हैं कोरोना के लक्षण

कोरोना की दूसरी लहर में इसके लक्षण भी अलग तरह के नजर आ रहे हैं. रिसर्चर ने कोरोना के नये लक्षणों की लिस्ट जारी की है, जिसे देखना हर व्यक्ति के लिए जरूरी है. कोरोना के लक्षणों में शामिल है-बुखार, बदनदर्द, गंध और स्वाद का जाना, कंपकंपी और सांस लेने में परेशानी.

डायरिया, उल्टी और बेचैनी

कोरोना के नये लक्षणों में डायरिया, उल्टी और बेचैनी भी शामिल हो गया है. इसके अलावा पेट में दर्द सहित बाॅडी पेन हो तो उसे हल्के में ना लें. यह सब कोरोना के लक्षण हैं.

लाल आंखें यानी कंजक्टिवाइटिस

कोरोना के नये वैरिएंट में आंखों का लाल होना भी शामिल है. हालांकि यह कम लोगों में देखा गया है, लेकिन कोरोना के लक्षणों में आंखों का लाल होना भी शामिल है, जो धीरे-धीरे बढ़ता जाता है.

सुनाई कम पड़ना

अगर आपको शोर से ज्यादा दिक्कत ना हो और तेज म्यूजिक भी आप आसानी से सुन ले रहे हों, तो सावधान आपको कोरोना हो सकता है. नये रिसर्च के अनुसार श्रवण शक्ति में कमी आना आपके लिए परेशानी का सबब बन सकता है.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें