26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Pune Porsche Accident: नाबालिग आरोपी के दादा का निकला ‘अंडरवर्ल्ड कनेक्शन’, यह बड़ी बात आई सामने

Pune Porsche Accident: पुणे की सड़क दुर्घटना के नाबालिग आरोपी के दादा का 'अंडरवर्ल्ड कनेक्शन' निकला है. जानें क्या बात आई सामने

Pune Porsche Accident: पुणे की सड़क दुर्घटना पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है. यहां के कल्याणी नगर में तेज रफ्तार कार से दो सॉफ्टवेयर इंजीनियरों को कुचलकर मार डालने के आरोपी 17 वर्षीय किशोर को तुरंत जमानत दिया गया था. इसको लेकर हुए हंगामे के बाद किशोर न्याय बोर्ड (जेजेबी) ने बुधवार को आरोपी को पांच जून तक के लिए निगरानी केंद्र में भेज दिया. इस बीच खबर है कि पुणे के प्रमुख बिल्डर में से एक के 17 वर्षीय बेटे को शराब के नशे में गाड़ी चलाने और दो लोगों को कुचलने के आरोप में पकड़े जाने के बाद जेजेबी के सामने पेश किया गया था, तो उसके दादा उसकी जमानत के लिए खड़े हुए थे. उनकी ओर से आश्वासन दिया कि नाबालिग अपने आप में सुधार लाएगा.

21051 Pti05 21 2024 000275A
Pune: builder vishal agarwal is brought at pune police commissioner’s office after his arrest, in pune

इस संबंध में अंग्रेजी वेबसाइट हिंदुस्तान टाइम्स ने खबर प्रकाशित की है जिसमें कहा गया है कि पुणे की सड़क दुर्घटना के आरोपी के दादा ने कंस्ट्रक्शन का बिजनेस शुरू किया था और उसके कथित तौर पर अंडरवर्ल्ड से संबंध हैं. आरोपी के दादा पर पुणे पुलिस ने शिव सेना पार्षद अजय भोसले से निपटने के लिए छोटा राजन गिरोह का सहारा लेने के आरोप में मामला दर्ज किया था. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने लड़के के दादा के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है, जिसमें कथित तौर पर भोसले की हत्या को अंजाम देने के लिए 2009 में छोटा राजन गिरोह का सहारा लेने की बात कही गई है.

Read Also : Pune Porsche Accident: नाबालिग आरोपी की जमानत रद्द, जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने 5 जून तक सुधार गृह में भेजा

21051 Pti05 21 2024 000363B
Pune: the cosie bar which has been sealed by officials for serving liquor to minor, in pune, the bar served liquor to the 17-yr old boy following which he met with an accident killing two people in the kalyan nagar area of pune sunday night.

सीबीआई की ओर से कहा गया है कि दादा का नाम नहीं बताया जा सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि इससे नाबालिग आरोपी की पहचान उजागर हो जाएगी. जांच एजेंसी की ओर से कहा गया कि आरोपी के दादा ने सबसे पहले गैंगस्टर को अपने भाई के साथ मध्यस्थता करने का ठेका दिया, जिसके साथ उसका कई संपत्तियों के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था. इसके बाद राजन ने भोसले से संपर्क किया, जो आरोपी के दादा के भाई का करीबी था. भोसले के माध्यम से मध्यस्थता करवाने की बात सामने आई थी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें