1. home Hindi News
  2. national
  3. private hospitals to get covaxin for rs 1200 and state governments for rs 600 bharat biotech has given prices aml

स्वदेशी Covaxin प्राइवेट अस्पतालों को ₹1200 और राज्य सरकारों को ₹600 में मिलेगी, कंपनी ने बतायी कीमतें

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
COVAXIN
COVAXIN
PTI Photo

नयी दिल्ली : भारत बायोटेक और आईसीएमआर (Bharat Biotech & ICMR) की ओर से विकसित किये गये पहले स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) की एक डोज प्राइवेट अस्पतालों को 1200 रुपये और राज्य सरकारों को 600 रुपये में मिलेंगे. जबकि कंपनी केंद्र सरकार को वैक्सीन की एक डोज 150 रुपये में उपलब्ध करायेगी. कंपनी की ओर से आज वैक्सीन की कीमतों की घोषणा की गयी. इससे पहले आज ही भारत की दूसरी वैक्सीन निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने अपने वैक्सीन कोविशिल्ड के दामों की घोषणा की.

कोविशिल्ड की एक डोज प्राइवेट हॉस्पिटलों को 600 रुपये में मिलेगी. जबकि वैक्सीन की एक खुराक राज्य सरकारों को 400 रुपये में मिलेगी. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ दिनों पहले ही घोषणा की थी कि अब देश के 18 साल से अधिक उम्र के लोग भी एक मई से वैक्सीन लगवा सकेंगे. इसके लिए उन्होंने राज्यों को तैयारी करने को कहा था.

कई राज्य सरकारों ने अपने नागरिकों को फ्री में वैक्सीन देने की घोषणा कर दी है. लेकिन वैक्सीन की कीमतों को लेकर राज्य सरकारों और केंद्र सरकार में खींच-तान चल रही है. राज्यों की मांग है कि कंपनी जिस कीमत पर केंद्र को वैक्सीन उपलब्ध करा रही है, उसी दाम में राज्यों को भी वैक्सीन उपलब्ध कराए. कई राज्यों ने तो केंद्र को चिट्ठी भी लिखी है.

इस बीच वैक्सीन निर्माताओं का कहना है कि पूर्व में वित्त पोषण की वजह से वैक्सीन की कीमतें कम रखी गयी थी. लेकिन अब उत्पादन बढ़ाने के लिए खर्च भी बढ़ेगा. एसआईआई के सीईओ अदार पूणावाला ने कहा कि अचानक से वैक्सीन के उत्पाद के बढ़ाने के लिए अधिक निवेश की आवश्यकता होगी. ऐसे में वैक्सीन की कीमतों में बढ़ोतरी होगी.

उन्होंने कहा कि फिर भी हमारे वैक्सीन की कीमत दुनिया के बाकी देशों के वैक्सीन की कीमतों से काफी कम है. उन्होंने कहा कोविड के इलाज में उपयोग होने वाले दूसरे उपकरणों और दवाइयों के मुकाबले भी हमारे वैक्सीन की कीमत कम है. उन्होंने कहा कि पुराने करार के तहत ही केंद्र को 150 रुपये में वैक्सीन दी जा रही है. नये करार में केंद्र को भी 400 रुपये प्रति डोज ही देने होंगे.

विपक्षी दलों ने वैक्सीन की अलग-अलग कीमत तय करने की आलोचना करते हुए कहा कि यह भेदभावपूर्ण है और इससे कुछ बड़े उद्योगपतियों को फायदा होगा, जबकि आम लोगों को नुकसान उठाना पड़ेगा. उन्होंने मांग की है कि केंद्र और राज्यों को एक कीमत पर वैक्सीन मिलनी चाहिए.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें