1. home Hindi News
  2. national
  3. air force aircraft arrived in india with 4 cryogenic oxygen tankers from singapore also helped in mp aml

सिंगापुर से 4 क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर लेकर भारत पहुंचा वायुसेना का विमान, एमपी में भी की मदद

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सिंगापुर से ऑक्सीजन टैंकर लेकर भारत पहुंचा वायुसेना का विमान.
सिंगापुर से ऑक्सीजन टैंकर लेकर भारत पहुंचा वायुसेना का विमान.
Indian Air Force

नयी दिल्ली : खाली ऑक्सीजन टैंकरों (Oxygen Tanker) को प्लांट तक पहुंचाने का जिम्मा अब भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने उठाया है. जहां इन टैंकरों को प्लांट तक पहुंचने में कई घंटों का समय लगता है. वहीं वायुसेना के विमान इन्हें महज कुछ घंटे में ही वहां पहुंचा देते हैं. आज सिंगापुर से चार क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकरों को लेकर वायुसेना का विमान (IAF C-17) पश्चिम बंगाल के पानागढ़ एयरबेस पर पहुंचा है. ये टैंकर कम तापमान बनाए रखते हैं.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुबह ही जानकारी दी थी कि कोरोना संकट से निपटने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए चार क्रायोजेनिक टैंकर सिंगापुर से विमान से मंगाए जा रहे हैं. वायुसेना के सी-17 विमान ने दिल्ली के बाहरी इलाके में हिंडन हवाईअड्डे से शनिवार सुबह सिंगापुर के चांगी हवाईअड्डे के लिए उड़ान भरी थी और शाम तक भारत लौट आया. मंत्रालय ने शुक्रवार को ही कहा था कि सिंगापुर और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से उच्च क्षमता वाले ऑक्सीजन टैंकरों के आयात की बात हो रही है.

मध्य प्रदेश में भी मदद कर रहा है वायुसेना

शनिवार को मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में मेडिकल ऑक्सीजन की तेजी से आपूर्ति के लिए वायु सेना ने दूसरे दिन भी मोर्चा संभाला और खाली टैंकर को इंदौर से गुजरात के जामनगर पहुंचाया. सड़क या रेल मार्ग से जहां इन टैंकरों के जामनगर पहुंचने में 20 घंटे से भी ज्यादा समय लगते वहीं, महज एक घंटे में इस टैंकर को जामनगर पहुंचा दिया गया. यहां से टैंकर भरकर फिर इंदौर के लिए रवाना हो गया.

बता दें कि इंदौर मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है. चिकित्सकीय ऑक्सीजन से जुड़ी व्यवस्थाओं का जिम्मा संभाल रहे प्रशासनिक अधिकारी रोहन सक्सेना ने पीटीआई भाषा को बताया कि चिकित्सकीय ऑक्सीजन टैंकर को सड़क मार्ग के जरिए इंदौर से जामनगर पहुंचने में आमतौर पर करीब 20 घंटे का समय लगता है, जबकि वायुसेना के विमान से यह घंटे भर में ही वहां पहुंच रहा है. इस तरह हमारा काफी समय बच रहा है.

भरे टैंकरों को विमान से भेजना सुरक्षित नहीं

रोहन सक्सेना ने बताया कि जामनगर के एक संयंत्र से चिकित्सकीय ऑक्सीजन भरवाने के बाद टैंकर सड़क मार्ग से इंदौर लौट रहे हैं. जानकारों का कहना है कि ऑक्सीजन से भरे टैंकरों की ढुलाई सैन्य विमानों से नहीं की जा सकती, क्योंकि इस गैस को ज्वलनशील माना जाता है और इससे जहाज को खतरा हो सकता है. इंदौर में अब तक 1,092 मरीजों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें