1. home Hindi News
  2. national
  3. pm modi govt giving rs 5000 from corona fund know the truth of whatsapp viral message mtj

Scam Alert: कोरोना फंड से लोगों को 5000 रुपये दे रही मोदी सरकार! WhatsApp पर Viral लिंक का क्या है सच

Scam Alert|Viral Message|PIB Fact Check|लोगों से अपील की जा रही है कि वे मैसेज के साथ शेयर किये गये लिंक को क्लिक करें और फॉर्म भरकर 5,000 रुपये की धनराशि प्राप्त कर लें.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कोरोना फंड से लोगों को 5000 रुपये दिये जाने का क्या है सच?
कोरोना फंड से लोगों को 5000 रुपये दिये जाने का क्या है सच?
Twitter

Corona Fund Rs 5000|Scam Alert|भारत सरकार की ओर से एक फॉर्म भरने पर 5,000 रुपये की आर्थिक मदद दी जा रही है. आर्थिक मदद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दिया जा रहा है. बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से कोरोना फंड (Corona Fund) से यह धनराशि जारी की जा रही है. इसके लिए आपको सिर्फ एक फॉर्म भरने की जरूरत है. फॉर्म का लिंक भी सोशल मीडिया (Social Media) में शेयर किया जा रहा है.

सोशल मीडिया में वायरल मैसेज

सोशल मीडिया में तेजी से यह मैसेज शेयर किया जा रहा है और लोगों से अपील की जा रही है कि वे मैसेज के साथ शेयर किये गये लिंक को क्लिक करें और फॉर्म भरकर 5,000 रुपये की धनराशि प्राप्त कर लें. जो मैसेज मैसेजिंग साइट व्हाट्सऐप (WhatsApp) पर लोगों को भेजे गये हैं, उसमें दावा किया गया है कि उसने 5,000 रुपये प्राप्त कर लिये हैं.

शेयर किया जा रहा है फॉर्म का लिंक

वायरल मैसेज में जो बातें कही गयी हैं, वे इस प्रकार हैं- भारत सरकार द्वारा 5,000 रुपये मिल रहे हैं. जल्दी लाभ लें. अभी फॉर्म भरें. 5000 rs pm-yojna.in. इसके आगे लिखा है- अभी फॉर्म भरें और 5000 रुपये लें. हेल्थ मंत्रालय द्वारा कोरोना फंड से मुझे भी मिला है. अगर आप भी 5000 रुपये लेना चाहते हैं, तो नीचे लिंक पे क्लिक करें और फॉर्म भरें. इसके नीचे एक लिंक भी शेयर किया गया है.

कोरोना फंड की सहायता राशि

वायरल मैसेज में कहा गया है कि यह कोरोना फंड की सहायता राशि है. कृपया ध्यान दें. अभी भी सोशल मीडिया में भेजे जा रहे इस मैसेज में कहा गया है कि योजना का लाभ सिर्फ 15 जनवरी 2022 तक ही मिलेगा. जल्दी फॉर्म भरें और 5000 रुपये लें. सबका साथ सबका विकास.

पीआईबी फैक्ट चेक- फर्जी मैसेज को साझा न करें

पत्र सूचना ब्यूरो (पीआईबी) ने इस मैसेज को फर्जी करार दिया है. पीआईबी फैक्ट चेक ने कहा है कि सोशल मीडिया में वायरल ये संदेश फर्जी हैं. ऐसे फर्जी संदेशों को फॉरवर्ड न करें. साथ ही यह भी सलाह दी है कि इस तरह की संदिग्ध वेबसाइट पर अपनी किसी भी तरह की निजी जानकारी साझा न करें.

Posted By: Mithilesh Jha

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें