1. home Hindi News
  2. national
  3. pm cares fund pm narendra modi donated 225 lakh from own pocket to pm cares fund officials initial corpus donation total 103 crore donate for nation upl

PM Cares Fund: पीएम मोदी ने ₹2.25 लाख दे कर की थी ‘पीएम केयर्स फंड’की शुरुआत, अब तक 103 करोड़ रुपये दान किए

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
File

PM Cares Fund, Pm narendra modi: पीएम केयर्स फंड में दान देने की शुरुआत खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी. पीएम मोदी ने अपनी निजी बचत से सवा दो लाख रुपए दान किए थे. 27 मार्च को कोरोना के खिलाफ जंग में जब पीएम केयर फंड की शुरुआत हुई थी, तब पीएम मोदी ने सबसे पहले दान दिया था. 27 से 31 मार्च के बीच महज 5 दिनों में ही 3,076 करोड़ रुपये पीएम केयर्स फंड में लोगों ने दान किए थे.

पीएम केयर्स फंड की 2019-20 की वार्षिक ऑडिट रिपोर्ट तैयार की गई है जिसमें ये सब जानकारी दी गई है. ये जानकारी सामने अने के बाद सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की खूब प्रशंसा होने लगी. गुरुवार सुबह ट्विटर पर Rs 2.25 ट्रेंड करने लगा. एनडीटीवी ने पीएमओ के अधिकारियों के हवाले से लिखा है कि पीएम मोदी लंबे समय से जनता के हित में दान देते रहे हैं.

अब तक कई योजनाओं में दान देने और निजी वस्तुओं की नीलामी की रकम मिलाकर पीएम मोदी का कुल योगदान 103 करोड़ रुपये से ज्यादा का हो चुका है. बता दें कि इससे पहले पीएम मोदी ने अपने निजी बैंक खाते से 2019 के इलाहाबाद महाकुंभ में 21 लाख रुपये दान किए थे. सीओल शांति पुरस्कार में मिले 1.3 करोड़ रुपये पीएम ने नमामि गंगे परियोजना में दान कर दिए थे.

अधिकारियों ने कहा कि मोदी को पीएम रहते मिले सभी तोहफों और प्रतीक चिन्‍हों की नीलामी से हासिल होने वाली रकम भी नमामि गंगे परियोजना को दी गई. इसमें ताजा ऑक्‍शन से मिले 3.4 करोड़ रुपये भी शामिल हैं.

इतना ही नहीं, नरेंद्र मोदी ने 2014 में जब गुजरात के मुख्‍यमंत्री का पद छोड़ा, तब उन्होंने राज्‍य सरकार स्‍टाफ के लिए निजी बचत से 21 लाख रुपये दान दिए थे. नरेंद्र मोदी ने गुजरात सीएम रहते हुए उपहारों के जरिए 89.96 करोड़ रुपये जुटाए थे. उन्‍होंने सारी रकम कन्‍या केलवणी फंड में दान कर दी और पैसा बच्‍चों की शिक्षा पर खर्च हुआ था.

विपक्ष साध रहा निशाना

पीएम केयर्स फंड को लेकर बीते कुछ दिनों से विपक्षी पार्टियों ने सरकार पर हमला बोले हैं. कांग्रेस ने इसकी कानूनी वैधता पर सवाल उठाया है. बुधवार को ही पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने दावा किया कि पीएम केयर्स फंड के ऑडिटर्स ने पुष्टि की है कि 26 से 31 मार्च, 2020 के बीच केवल 5 दिनों में फंड को 3076 करोड़ रुपये मिले. उन्होंने सवाल किया कि इन दयालु दाताओं के नाम प्रकट नहीं किए जाएंगे. क्यों?

चिदंबरम ने आगे कहा कि प्रत्येक अन्य एनजीओ या ट्रस्ट एक सीमा से अधिक राशि दान करने वाले दानकर्ताओं के नाम प्रकट करने के लिए बाध्य है.पी चिदंबरम ने कहा कि दान पाने वाला ज्ञात है. दान पाने वाले के ट्रस्टी ज्ञात है. तो ट्रस्टी,दानदाताओं के नाम उजागर करने से क्यों डर रहे हैं?

Posted By: Utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें