1. home Home
  2. national
  3. omicron is not a threat it is a vaccine dr afshine emrani claim rjh

Omicron News : ओमिक्रॉन के लक्षण मौसमी सर्दी के समान, यह वैक्सीन है जो कोविड महामारी का अंत करेगा...

अफशाइन इमरानी ने ट्वीट करके ओमिक्रॉन के बारे में चौंकाने वाली बातें कही हैं. उनका कहना है कि ओमिक्रॉन के संक्रमण से ना तो किसी को गंभीर लक्षण उभर रहे हैं और ना ही किसी को अस्पताल में भरती होने की जरूरत पड़ रही है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Afshine Emrani MD
Afshine Emrani MD
Twitter

ओमिक्रॉन एक मौसमी सर्दी के वायरस के अलावा कुछ नहीं है. यह दरअसल एक वैक्सीन है, ऐसी वैक्सीन जिसे वैक्सीन कंपनियां नहीं बना सकती हैं. ओमिक्रॉन का वैक्सीन लगने से लोगों में हर्ड इम्युनिटी विकसित होगा, इसलिए मास्क हटायें और ओमिक्रॉन वैक्सीन को स्वीकार करें.

यह कहना है लॉस एंजिल्स के हृदय रोग विशेषज्ञ अफशाइन इमरानी का. अफशाइन इमरानी एक यहूदी हैं और इजराइल के रहने वाले हैं. अफशाइन इमरानी ने ट्वीट करके ओमिक्रॉन के बारे में चौंकाने वाली बातें कही हैं. उनका कहना है कि ओमिक्रॉन के संक्रमण से ना तो किसी को गंभीर लक्षण उभर रहे हैं और ना ही किसी को अस्पताल में भरती होने की जरूरत पड़ रही है. इसकी वजह यह है कि दरअसल यह एक वैक्सीन है जो 8-12 सप्ताह में पूरे विश्व को लग जायेगा.

ओमिक्रॉन वैक्सीन को रोकने की कोशिश करना बेकार है. अगर सरकारें ऐसा करेंगी तो वे बेवजह का काम करेंगी. ओमिक्रॉन को मास्क, वैक्सीन और दवाएं नहीं रोक पायेंगी. ओमिक्रॉन के लक्षण सामान्य हैं और उनसे कोई खतरा नहीं है. अमूमन यही होता है कि जिन लोगों को टीका लगाया जाता है, उनके मरने या अस्पताल में भर्ती होने की संभावना बहुत कम होती है.

डॉ अफशाइन इमरानी का कहना है कि जिन लोगों को टीका लगा है उन्हें भी ओमिक्रॉन हो रहा है और वे दूसरों में संक्रमण फैला भी रहे हैं. जबकि डॉक्टरों ने इसके विपरीत बात की थी. डॉ अफशाइन इमरानी का कहना है कि अगर आपको ओमिक्रॉन का संक्रमण होता है तो डरें नहीं और ना ही इसका टेस्ट करायें. ओमिक्रॉन से लाखों लोग संक्रमित हो रहे हैं और उनमें से कई लोग बीमार भी नहीं हो रहे हैं. ऐसे में टेस्ट क्यों कराना? सिर्फ घबराहट और डर पैदा करने के लिए?

डॉ अफशाइन इमरानी का कहना है कि यह वैक्सीन सभी को लगेगा. अस्पताल में अगर ज्यादा लोग जाने लगे और हेल्थ वर्कर्स भी संक्रमित हुए तो क्या अस्पताल के 70 प्रतिशत वर्कर्स को कोरेंटिन करने का जोखिम सरकारें उठा पायेंगी. ऐसे में उन मरीजों को दिक्कत हो सकती है जिन्हें डॉक्टर और देखभाल की जरूरत है. अस्पताल के कर्मचारियों को मास्क के साथ काम पर वापस जाने में सक्षम होना चाहिए जैसा वे ठंड के साथ करते हैं.

डॉ इमरानी का कहना है कि जल्दी ही अमेरिका में हमारे पास हफ्तों तक प्रतिदिन 20 लाख ओमिक्रॉंन पॉजिटिव मिलेंगे और उसके बाद मामलों में नाटकीय ढंग से गिरावट आयेगी.

डॉ अफशाइन इमरानी ने कहा कि ओमिक्रॉन हमारे लिए वरदान है और यह कोरोना महामारी के अंत का कारण बनेगा. हमें इसे रोकने के उपाय ढूंढ़ने की बजाय अच्छे खानपान, धूप, एक्सरसाइज, अच्छी नींद और मनोवैज्ञानिक सपोर्ट की जरूरत है. ईश्वर से प्रार्थना है कि यह बीमारी जल्द खत्म हो.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें