1. home Hindi News
  2. national
  3. north delhi grain market fire case delhi police arrested the fourth accused 45 people of bihar and up lost their lives in the accident vwt

अनाज मंडी आग मामला : दिल्ली पुलिस ने चौथे आरोपी को किया गिरफ्तार, बिहार-यूपी के 45 लोगों की चली गई थी जान

By Agency
Updated Date
8 दिसंबर 2019 की अहले सुबह उत्तरी दिल्ली की अनाज मंडी की एक इमारत में लग गई थी आग.
8 दिसंबर 2019 की अहले सुबह उत्तरी दिल्ली की अनाज मंडी की एक इमारत में लग गई थी आग.
फाइल फोटो.

नयी दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने उत्तरी दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में स्थित चार मंजिला इमारत में लगभग एक साल पहले आग लगने के मामले में फरार चल रहे चौथे आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. इस हादसे में बिहार-यूपी के 9 नाबालिग समेत 45 लोगों की मौत हो गई थी. हालांकि, पुलिस ने इस मामले में पहले ही इमारत के मालिक रेहान,उसके मैनेजर फुरकान और मोहम्मद सुहैल नाम के एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया था. दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी है.

50 हजार रुपये का था इनाम

अधिकारी ने कहा कि चौथे आरोपी मोहम्मद इमरान को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया. वह रेहान का भाई और इमारत का आंशिक रूप से मालिक भी है. पुलिस ने बताया कि इमरान घटना के दिन से ही फरार था और उस पर 50,000 रुपये का इनाम घोषित किया गया था.

8 दिसंबर 2018 को हुआ था हादसा

बता दें कि पिछले साल 8 दिसंबर को उत्तरी दिल्ली के भीड़भाड़ वाले अनाज मंडी इलाके में चार मंजिला इमारत की अवैध निर्माण इकाइयों में भीषण आग लग गई थी. इसमें 9 नाबालिग समेत 45 लोगों की मौत हो गई थी और छह नाबालिग समेत 21 अन्य घायल हो गए थे. हादसे के शिकार लोगों में करीब-करीब सभी बिहार और उत्तर प्रदेश के प्रवासी मजदूर थे, जो इमारत के अंदर रहने के साथ-साथ काम भी करते थे. घटना के बाद सदर बाजार थाने में मामला दर्ज किया गया था, जिसे बाद में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को भेज दिया गया.

आजादपुर के रामेश्वर नगर से पकड़ा गया चौथा आरोपी

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) बीके सिंह ने बताया कि शनिवार को हमारी टीम को सूचना मिली कि इमरान एक पारिवारिक समारोह में शामिल होने के लिए दिल्ली आ रहा है. आजादपुर के रामेश्वर नगर के पास योजना बनाकर इमरान को पकड़ा गया. उन्होंने कहा कि जिस इमारत में आग लगी थी, वह संपत्ति संयुक्त रूप से इमरान और उसके भाई रेहान की है और 2007 में खरीदी गई थी.

किराए पर दी गई थी इमारत

उन्होंने बताया कि अनाज मंडी में इमारत के खरीदने के समय यह इमारत केवल दो मंजिला ऊंची थी, लेकिन बाद में इसे पांच मंजिला बना दिया गया था. दोनों भाइयों ने इस इमारत को विभिन्न संस्थाओं को किराए पर दिया था और इमारत के अंदर कई छोटी निर्माण इकाइयां चल रही थीं.

हादसे के बाद से ही फरार था चौथा आरोपी

उन्होंने कहा कि बाकी संपत्ति उसके द्वारा किराए पर दी गई थी. आग लगने की घटना के बाद चौथा आरोपी मोहम्मद इमरान मेरठ, आगरा, रायपुर, अजमेर और दिल्ली के सीलमपुर में अपने रिश्तेदारों के साथ छिपकर रह रहा था. उन्होंने कहा कि इमरान को आगे की जांच के लिए पांच दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है.

Posted By : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें