1. home Home
  2. national
  3. mehbooba mufti criticised article 370 removal rjh

आर्टिकल 370 को बहाल किये बिना कश्मीर को साथ रखना मुश्किल, महबूबा मुफ्ती ने दी मोदी सरकार को चेतावनी

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि इतिहास गवाह है कि कोई भी सरकार लाठी डंडे के दम पर शासन नहीं कर सकती है. अगर कश्मीर को अपना बनाकर रखना है तो जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा फिर से बहाल करना पड़ेगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Mehbooba Mufti on restoration of special status of J&K
Mehbooba Mufti on restoration of special status of J&K
Twitter

पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने आज एक बार फिर आर्टिकल 370 को हटाये जाने पर तीखी प्रतिक्रिया दी और केंद्र सरकार को यह चेतावनी दी अगर वे कश्मीर को साथ रखना चाहते हैं तो उन्हें आर्टिकल 370 को फिर से बहाल करना होगा, अन्यथा कश्मीर भारत का अंग नहीं रहेगा.

जम्मू के बनिहाल में महबूबा मुफ्ती ने तीखे तेवर दिखाते हुए कहा कि कश्मीरियों ने महात्मा गांधी के भारत के साथ जाने का फैसला किया था, जिन्होंने हमें आर्टिकल 370 और हमारा अलग झंडा दिया था. हम गोडसे की सरकार के साथ खड़े नहीं हो सकते.

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा फिर से बहाल करना पड़ेगा

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि इतिहास गवाह है कि कोई भी सरकार लाठी डंडे के दम पर शासन नहीं कर सकती है. अगर कश्मीर को अपना बनाकर रखना है तो जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा फिर से बहाल करना पड़ेगा.

जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि संविधान द्वारा प्रदत्त विशेष दर्जा बहाल करने के लिए कश्मीरियों को अपनी आवाज बुलंद करनी होगी. यह उनके सम्मान और पहचान की जंग है जिसे वे लड़ेंगे. अगर केंद्र सरकार कश्मीरियों को साथ रखना चाहती है तो वह आर्टिकल 370 को फिर से बहाल करेगी, अन्यथा कश्मीरी भारत के साथ आने का अपना फैसला बदल सकते हैं. महबूबा ने कहा कि मैं आश्वस्त हूं कि उन्हें ब्याज के साथ कश्मीरियों को उनका हक लौटाना पड़ेगा.

महबूबा मुफ्ती ने भाजपा और नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला किया और कहा कि ये लोग देश के लोगों को जाति और धर्म के नाम पर बांट रहे हैं. मैं जब कश्मीर में शांति के लिए पाकिस्तान से बात करने की बात करती हूं, तो ये लोग मुझे देशद्रोही करार देते हैं, जबकि ये लोग खुद तालिबान और चीन से वार्ता करते हैं.

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाये जाने के बाद से महबूबा मुफ्ती हमेशा ही केंद्र सरकार के प्रति आक्रामक रही हैं. उन्होंने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा वापस दिये जाने को लेकर लगातार आंदोलन किया है और यह बयान देती रहीं हैं कि कश्मीरी इससे कम में मानने वाले नहीं हैं. उन्होंने कई बार प्रेस काॅन्फ्रेंस में कश्मीर का झंडा लगाकर भी बयान दिया है.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें