1. home Hindi News
  2. national
  3. mamata banerjee govt not helping to stop infiltration amit shah says in assam mtj

घुसपैठ के मुद्दे पर अमित शाह ने ममता बनर्जी सरकार पर लगाये गंभीर आरोप, कही ये बात

अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी घुसपैठ की समस्या को समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हालांकि, उन्होंने दावा किया कि इस मसले पर ‘बंगाल की सरकार केंद्र के साथ सहयोग नहीं कर रही है’.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
असम सरकार की अमित शाह ने की प्रशंसा
असम सरकार की अमित शाह ने की प्रशंसा
PTI

गुवाहाटी: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने मंगलवार को घुसपैठ की समस्या से सख्ती से निपटने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व वाली असम सरकार की प्रशंसा की. उन्होंने पश्चिम बंगाल (West Bengal) की ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) सरकार पर आरोप लगाया कि वह इस समस्या से निपटने में केंद्र का सहयोग नहीं कर रही है.

घुसपैठ को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध

असम में हिमंता बिस्व सरमा के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार की पहली वर्षगांठ के मौके पर एक रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी घुसपैठ की समस्या को समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हालांकि, उन्होंने दावा किया कि इस मसले पर ‘बंगाल की सरकार केंद्र के साथ सहयोग नहीं कर रही है’.

केंद्र के साथ मजबूती से खड़ी है असम सरकार

अमित शाह ने कहा, ‘दूसरी ओर, असम सरकार केंद्र के साथ पूरी तरह से खड़ी है और समस्या से मजबूती से लड़ रही है. परिणामस्वरूप घुसपैठ में उल्लेखनीय कमी आयी है.’ केंद्रीय गृह मंत्री ने सोमवार को असम के मनकाचर स्थित भारत-बांग्लादेश सीमा के दौरे का उल्लेख किया और कहा, ‘सारे आंकड़े बताते हैं कि असम में घुसपैठ की घटनाओं पर बहुत ज्यादा कमी आयी है. कुछ समय के बाद ये घुसपैठ पूरी तरह से बंद हो जायेगी.’

पशु तस्करों के सारे रास्ते हो जायेंगे बंद

असम के रास्ते बांग्लादेश में पहले बड़े पैमाने पर होने वाली पशु तस्करी का जिक्र करते हुए अमित शाह ने कहा कि असम सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि पशु तस्करों के लिए राज्य के सभी दरवाजे बंद कर दिये जायें.

शांति, विकास, शिक्षा और बेहतर स्वास्थ्य

उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने के पहले असम आतंकवाद, आंदोलन, बम धमाके और गोलीबारी से ग्रसित राज्य था, लेकिन भाजपा सरकार के 6 वर्षों में पूर्वोत्तर के इस राज्य में आतंकवाद, आंदोलन और हिंसा की जगह शांति, विकास और बेहतर स्वास्थ्य और शिक्षा का रास्ता प्रशस्त हुआ है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें