1. home Hindi News
  2. national
  3. mahender singh dhoni shared video in instagram account showing eating strawberry of his own farming news pwn

अपने फार्म की स्ट्रॉबेरी खाते हुए धौनी ने शेयर किया वीडियो, कहा...तो बाजार के लिए नहीं बचेगा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
अपने फार्म की स्ट्रॉबेरी खाते हुए धौनी ने शेयर किया वीडियो
अपने फार्म की स्ट्रॉबेरी खाते हुए धौनी ने शेयर किया वीडियो
Social media

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और रांची के राजकुमार महेंद्र सिंह धौनी हाल ही में परिवार संग छुट्टियां मनाकर दूबई से लौटे हैं. वहां से लौटने के साथ ही धौनी अपने फार्म हाउस में पहुंच गये हैं. यहां से उन्होंने सोशल साइट इंस्टाग्रम पर एक पोस्ट शेयर की है. जिसमें वो अपने फार्म हाउस में जैविक तरीके से ऊपजाये गये स्ट्रॉबेरी को तोड़ कर खाते हुए दिखाई दे रहे हैं. अपने इंस्टाग्राम पोस्ट के साथ माही ने एक कैप्शन भी लिखा है. जिसमें उन्होंने कहा है कि अगर इसी तरह वो फार्म में आते रहे तो बाजार के लिए एक भी स्ट्रॉबेरी नहीं बचेगी. वीडियो में धौनी ने अपने फार्म में ऊगे हुए स्ट्रॉबेरी भी दिखाये.

बता दे की क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद धौनी आर्गेनिक फॉर्मिंग के लिए खेतों में उपज बढ़ाने पर खासा ध्‍यान दे रहे हैं. धौनी अपने फार्म हाउस में कड़कनाथ मुर्गा की फार्मिंग कर रहे हैं. इसके लिए मध्यप्रदेश के झाबुआ जिला से बाकायदा 2000 चूजे मंगवाये गये .

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और झारखंड के माही महेंद्र सिंह धौनी खेल के साथ-साथ जैविक खेती और पाेल्ट्री फार्मिंग के बाद अब पशुपालन की ओर कदम बढ़ाये हैं. धौनी अपने फार्म में नई नस्ल की गाय तैयार कर रहे हैं. इन गाय को झारखंड के किसानों को मुफ्त में देने की योजना है.

रांची के सेंबो में भारतीय क्रिकेटर महेंद्र सिंह धौनी का फार्म हाउस है. इसे लोग इजा फार्म हाउस के नाम से भी जानते हैं. धौनी अपने हाउस में इन दिनों माही डेनमार्क की गायों की तरह नई नस्ल के गाय को तैयार कर रहे हैं. इन गाय को तैयार होने के एक साल बाद उन्हें झारखंड के किसानों को मुफ्त में देने की योजना है. हालांकि, माही ने अपने इस योजना को सार्वजनिक नहीं किया है, लेकिन फार्म हाउस से जो बातें छनकर बाहर आ रही है, उसमें धौनी का गौ प्रेम भी एक है.

अपने फार्म में नई नस्ल के गाय को तैयार करने के पीछे माही की सोच है कि ऐसी गाय तैयार की जाये, जो अधिक से अधिक दूध दे, ताकि राज्य के किसानों को अधिक लाभ मिल सके. अपनी इस योजना में माही अपने एक पशु डॉक्टर मित्र से भी सलाह मशविरा कर रहे हैं.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें