25.4 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

महाराष्ट्र: ग्राम पंचायत चुनाव के परिणाम के बाद सत्तारूढ़ दल गदगद, अजीत पवार ने चाचा को किया पस्त

Maharashtra Politics : इस चुनाव में शरद पवार खेमे को नुकसान हुआ क्योंकि उन्होंने केवल 178 ग्रामीण निकायों में जीत हासिल की, वहीं अजीत पवार गुट ने 371 ग्राम पंचायतों में जीत दर्ज की.

Maharashtra Politics : महाराष्ट्र की राजनीति में सत्तारूढ़ दल के लिए एक ऐसी खबर आई है जिससे इस खेमे में खुशी की लहर दौड़ पड़ी. दरअसल, शिवसेना, बीजेपी और अजित पवार नीत राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की महायुति ने ग्राम पंचायत चुनावों में शानदार जीत हासिल की है. इस जीत के बाद सत्तारूढ़ दल के नेताओं की प्रतिक्रिया आ रही है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने ने कहा कि महायुति ने ग्राम पंचायत चुनावों में शानदार जीत हासिल की है जो हमारे लिए अच्छी खबर है. पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए शिंदे ने कहा कि विपक्ष ने एक साल सरकार पर तंज कसने और आलोचना करने में ही व्यतीत कर दिया है. महायुति ने महा विकास आघाडी से कई गुना अधिक सीटें जीतने का काम किया है. इतना ही नहीं सीएम एकनाथ शिंदे ने यह भी दावा किया कि सत्तारूढ़ गठबंधन अगले साल के लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में से 45 सीटें जीतेगा. एनसीपी की टूट का लाभ अजीत पवार को मिलता नजर आया. इस चुनाव में शरद पवार खेमे को नुकसान हुआ क्योंकि उन्होंने केवल 178 ग्रामीण निकायों में जीत हासिल की, वहीं अजीत पवार गुट ने 371 ग्राम पंचायतों में जीत दर्ज की. बीजेपी ने 743 ग्राम पंचायतों में जीत के साथ सर्वोच्च स्थान हासिल किया, जबकि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने 240 पंचायतें हासिल कीं.

पुणे जिले में पवार परिवार के गढ़ का हाल

इस चुनाव में खास बात यह रही कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव के नेतृत्व वाली बीआरएस, जिसने हाल ही में महाराष्ट्र की राजनीति में प्रवेश किया है, उसने 53 ग्राम पंचायतें जीतकर प्रभावशाली शुरुआत की है. एनसीपी की टूट के बाद कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे. इन कयासों पर इस चुनाव के परिणाम के बाद विराम लग गया है. अजित पवार गुट वाली एनसीपी के धड़े ने दावा किया कि उसके समर्थन वाले पैनल ने महाराष्ट्र के पुणे जिले में पवार परिवार के गढ़ माने जाने वाले बारामती में 32 ग्राम परिषदों में से 30 पर जीत दर्ज की है. दो ग्राम पंचायतें बीजेपी समर्थित पैनल ने जीतीं, जो उपमुख्यमंत्री अजित पवार के नेतृत्व वाली एनसीपी की सहयोगी पार्टी है.

130 रिक्त सरपंच पदों के लिए रविवार को मतदान

यहां चर्चा कर दें कि महाराष्ट्र में 2,359 ग्राम पंचायतों और 130 रिक्त सरपंच पदों के लिए रविवार को मतदान हुआ था जबकि वोटों की गिनती सोमवार को की गई. बारामती में 32 ग्राम पंचायतों के लिए वोटों की गिनती तालुका कार्यालय में की गई. स्थानीय एनसीपी नेताओं ने कहा कि अजित पवार के नेतृत्व वाले एनसीपी गुट द्वारा समर्थित पैनल ने बारामती तालुका की 32 ग्राम पंचायतों में से 30 पर जीत हासिल की है जो एक बड़ी बात है.

Also Read: Maharashtra Politics: अजीत पवार को लेकर दिये गये बयान पर शरद पवार ने लिया यू-टर्न, अब कही ये बात

कैसे लड़े जाते हैं चुनाव जानें

इधर बीजेपी नागपुर ग्रामीण के अध्यक्ष सुधाकर कोहाले ने एक विज्ञप्ति जारी की और कहा कि उनकी पार्टी ने 361 ग्राम पंचायतों में 238 सरपंच पदों पर जीत हासिल की है, जबकि कांग्रेस ने कहा कि महा विकास आघाडी (एमवीए) ने 223 पदों पर जीत हासिल की. उल्लेखनीय है कि ये चुनाव पार्टी चिह्नों पर नहीं लड़े जाते, हालांकि सभी संगठन पैनल और उम्मीदवारों का समर्थन करने का काम करते हैं. पूर्व मंत्री और कांग्रेस की नागपुर ग्रामीण इकाई के अध्यक्ष राजेंद्र मूलक ने कहा कि उनकी पार्टी ने अपने सभी उम्मीदवारों के नामांकन स्वीकार होने, चुनाव चिह्न आवंटित होने और पैनल बनने के बाद उनकी घोषणा कर दी थी.

Also Read: ‘पार्टी मुझे नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी से मुक्त कर दे’, NCP नेता अजीत पवार का बयान

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें