1. home Hindi News
  2. national
  3. madhyapradesh shivraj singh chauhan cow cabinet first meeting held today for safety of cow pwn

शिवराज सिंह चौहान ने आज की गौ कैबिनेट की पहली बैठक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
कानून-व्यवस्था को लेकर बैठक करते मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
कानून-व्यवस्था को लेकर बैठक करते मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
Twitter

मध्यप्रदेश में गाय की रक्षा को लेकर बनायी गयी गौ कैबिनेट की पहली बैठक आज हुई. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल में 'काउ कैबिनेट ’की पहली बैठक की. राज्य सरकार ने राज्य में गायों की सुरक्षा के लिए कैबिनेट का गठन करने का निर्णय लिया है. इससे पहले गोपाष्टमी को लेकर पूजा की थी.

आज के कैबिनेट की अध्यक्षता खुद मुख्यमंत्री ने की, जबकि गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, वन मंत्री विजय शाह, कृषि मंत्री कमल पटेल, ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, और पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल बैठक में शामिल हुए.

बीजेपी नेता ने कहा कि “हमारे जीवन में तृप्ति के तीन तत्व हैं - गंगा, गीता और गौमाता. भाजपा हमेशा से भारतीय संस्कृति और परंपराओं की रक्षक रही है और इस रास्ते पर चलते हुए हमने गाय कैबिनेट की स्थापना का फैसला किया है।. पशुपालन विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, राज्य सरकार एक साल में 4,000 गाय आश्रय का निर्माण करेगी और लक्ष्य एक ग्राम पंचायत में कम से कम एक गाय आश्रय है. एक अधिकारी के अनुसार, Cabinet गौ मंत्रिमंडल ’की बैठक हर दो महीने में एक बार होगी.

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार गाय की सुरक्षा को लेकर गंभीर है. इसके लिए सरकार ने मप्रदेश में गोधन संरक्षण व संवर्धन के लिए 'गौकैबिनेट' गठित करने का निर्णय लिया गया था. पशुपालन, वन, पंचायत व ग्रामीण विकास, राजस्व, गृह और किसान कल्याण विभाग गौ कैबिनेट में शामिल होंगे. उस वक्त बताया गया था कि गौ कैबिनेट की पहली बैठक 22 नवंबर को गोपाष्टमी पर दोपहर 12 बजे गौ अभ्यारण, आगर मालवा में आयोजित की जाएगी.

इससे पहले अगस्त में, भाजपा के नेतृत्व वाली राज्य सरकार ने पिछले वित्तीय वर्ष में गौ संरक्षण के बजट को 90% से घटाकर 132 करोड़ रुपये करने का प्रयास किया था. बाद में, राज्य सरकार ने गायों को खिलाने के लिए कुछ धनराशि जारी की थी. अब तक, एमपी में 1,300 गाय आश्रय हैं और प्रति गाय खर्च प्रति दिन 1.6 रुपये से कम था.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें