25.1 C
Ranchi
Wednesday, February 28, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

जोशीमठ की तरह जम्मू-कश्मीर के डोडा में भी आ रहीं दरारें, सता रहा जमींदोज होने का खतरा

उत्तराखंड के जोशीमठ की तरह जम्मू और कश्मीर के डोडा जिले में कई घरों में दरारें आ गई हैं. राष्ट्रीय राजमार्ग के भूवैज्ञानिक ने भी जायजा लेने के लिए बुलाया गया है. उन्होंने कहा कि प्रशासन स्थित पर नजर बनाए हुए है. जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की योजना बनाई जाने की बात हो रही है.

उत्तराखंड के जोशीमठ की तरह जम्मू और कश्मीर के डोडा जिले में कई घरों में दरारें आ गई हैं. डोडा के डीएम अतहर अमीन जरगर ने बताया कि दिसंबर में एक घर में दरार की सूचना मिली थी. कल तक 6 इमारतों में दरारें आ गई थीं, लेकिन अब ये दरारें बढ़ने लगी हैं. यह क्षेत्र धीरे-धीरे डूब रहा है. सरकार जल्द से जल्द समाधान निकालने की कोशिश कर रही है.

जम्मू कश्मीर के डोडा में हालत बिगड़ रही हैं. घरों में दरारें पड़ती जा रही हैं. डोडा के डीएम अतहर अमीन जरगर ने बताया कि बीती रात स्थिति गंभीर हो गई थी. अभी तक 19 घर, एक मस्जिद और एक मदरसे को खाली किया जा चुका है. इस इलाके में रेड अलर्ट जारी किया है. भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण को एक रिपोर्ट भेजी गई है, वे आगे की जांच करेंगे. अगर समस्या बढ़ेगी तो और घरों को खाली कराया जाएगा.

टीम कर रही है जांच: वहीं, घटना को लेकर डोडा के डीएम अतहर अमीन जरगर ने बताया कि प्रशासन ने स्थिति का जायजा लेने के लिए एक टीम गठित कर रहा है. राष्ट्रीय राजमार्ग के भूवैज्ञानिक ने भी जायजा लेने के लिए बुलाया गया है. उन्होंने कहा कि प्रशासन स्थित पर नजर बनाए हुए है. जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की योजना बनाई जाएगी. वहीं, उन्होंने कहा कि स्थित को देखते हुए सरकार समाधान तलाशने में जुटी है.

उत्तराखंड में मची है तबाही: गौरतलब है कि इससे पहले उत्तराखंड के जोशीमठ में सैकड़ों घरों में दरार आने लगी थी. घरों में दरारें आने के बाद एक बड़े इलाके को खाली करा दिया गया है. जोशीमठ में अब तक 849 घरों में दरारें आ चुकी हैं. इनमें से 181 घर डेंजर जोन में हैं. इससे पहले जोशीमठ में बने दो होटलों को भी गिरा दिया गया था. बता दें, उत्तराखंड के जोशीमठ में भू-धंसान का खतरा लगातार बना हुआ है.

Also Read: दुनिया में नंबर वन हैं PM Modi, ग्लोबल लीडर्स सर्वे में बजा डंका, बाइडेन-सुनक समेत कई दिग्गजों को छोड़ा पीछे

ब्रिटेन में भी मच सकती है तबाही: भारत से इतर ब्रिटेन में भी जोशीमठ की तरह तबाही मच सकती है. एक रिपोर्ट में इस बात को कहा गया है कि तटीय कटाव के कारण ब्रिटेन के कोस्टल इलाके में बने कई घर समुद्र में समा सकते हैं. इंग्लैंड के कॉर्नवाल, कुम्ब्रिया, डोरसेट, ईस्ट यॉर्कशायर, एसेक्स, केंट, आइल ऑफ वाइट, नॉर्थम्बरलैंड, नॉरफॉक और ससेक्स इलाके में बने घर सबसे अधिक जोखिम वाले क्षेत्रों में शामिल हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि ब्रिटेन में इस सदी के अंत तक 584 मिलियन पाउंड मूल्य के सैकड़ों घरों पर समुद्र में समाने का खतरा मंडरा रहा है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें