1. home Hindi News
  2. national
  3. kerala plane crash safety avisory committee had warned in 2011 that kozhikode airport is not safe

Kerala Plane Crash : 2011 में ही बता दिया गया था सुरक्षित नहीं है कोझिकोड एयरपोर्ट, जानें क्यों है असुरक्षित

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Kerala Plane Crash safety avisory committee had warned in 2011
Kerala Plane Crash safety avisory committee had warned in 2011
Photo : Twitter

नयी दिल्ली : कोझिकोड में हुई विमान दुर्घटना में अबतक 18 लोगों की मौत हुई है, दुर्घटना क्यों हुई इसके जांच के आदेश भी दिये गये हैं, ऐसे में यह जानकारी आ रही है कि वर्ष 211 में ही इस एयरपोर्ट को असुरक्षित घोषित कर दिया गया था. वर्ष 2011 में विशेषज्ञों की टीम ने करीमपुर एयरपोर्ट के रनवे 10 को असुरक्षित करार दिया था, उन्होंने कहा था कि यह रनवे लैंडिंग के लिए बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है, खासकर बारिश के मौसम में.

वर्ष 2011 में जब मंगलुरु में एयर इंडिया की फ्लाइट 812 दुर्घटनाग्रस्त हुई थी और 158 लोगों की मौत हुई थी उस वक्त सेफ्टी एडवाइजरी कमेटी ने यह अलर्ट जारी किया था. कल जब बहुत बारिश हो रही थी उस वक्त यहां एयर इंडिया का विमान जो दुबई से आ रहा था, रनवे पर फिसलकर खाई में गिर गया.

सुरक्षा के लिहाज से टेबलटॉप रनवे बहुत सुरक्षित नहीं : सेफ्टी एडवाइजरी कमेटी के सदस्य कैप्टन रंगनाथन ने मीडिया को बताया कि कोझिकोड के इस एयरपोर्ट का रनवे टेबलटॉप है, जिसे सुरक्षा के लिहाज से बहुत सुरक्षित नहीं माना जाता है. टेबलटॉप रनवे उस रनवे को कहते हैं, जो पहाड़ी के ऊपर बनाया जाता है और जिसके दोनों ओर खाई होती है. करीमपुर एयरपोर्ट में कुछ इसी तरह का रनवे है, साथ ही वहां रनवे के अंत में बफर जोन भी बहुत कम है, पहाड़ी इलाकों में बफर जोन 240 मीटर का होता है, लेकिन यहां मात्र 90 मीटर है और रनवे के दोनों तरफ खाई है, जिसके कारण यह दुर्घटना हुई. कैप्टन रंगनाथन ने बताया कि इस एयरपोर्ट के बारे में पूरी रिपोर्ट नागरिक उड्डयन विभाग के सेक्रेटरी और डायरेक्टर जेनरल को दी गयी थी.

शुक्रवार को शाम सात बजकर 40 मिनट पर, दुबई से 190 लोगों के साथ आ रहा एअर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान भारी बारिश के बीच कोझिकोड हवाईअड्डे पर उतरने के दौरान हवाईपट्टी से फिसलने के बाद 35 फुट गहरी खाई में जा गिरा था, जिससे उसके दो टुकड़े हो गये थे. विमान में सवार कम से कम 18 लोगों की मौत हो गयी है.

डीजीसीए के एक अधिकारी ने कहा कि ये उपकरण (डीएफडीआर और सीवीआर) विमान दुर्घटना जांच ब्यूरो के पास हैं और इन्हें आगे की जांच के लिए दिल्ली भेजा जाएगा. नागर विमानन मंत्री हरदीप पुरी ने ट्वीट किया, “कल शाम हुए हवाई हादसे के बाद राहत कार्यों के क्रियान्वयन एवं स्थिति का जायजा लेने के लिए कोझिकोड पहुंचा हूं.” मंत्री ने कहा, “कल शाम कोझिकोड में हुए विमान हादसे में जान गंवाने वाले 18 लोगों के परिवार एवं दोस्तों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं.” उन्होंने कहा कि दुर्घटना के कारणों की जांच की जा रही है.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें