1. home Hindi News
  2. national
  3. karnataka cabinet expansion 7 new faces in yeddyurappa government mtb nagaraj umesh katti aravind limbavali murugesh nirani r shankar cp yogeeshwara angara s take oath today avd

Karnataka Cabinet Expansion : कर्नाटक में कैबिनेट विस्तार, येदियुरप्पा सरकार में 7 नये चेहरे

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Karnataka Cabinet Expansion
Karnataka Cabinet Expansion
twitter

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने आज अपने 17 महीने पुराने मंत्रिमंडल में विस्तार (Karnataka Cabinet Expansion) करते हुए 7 नये चेहरों में जगह दी है. 7 नये मंत्रियों को राज्यपाल वजुभाई वाला (vajubhai vala) ने आज पद एवं गोपनियता की शपथ दिलायी. नये सदस्यों ने राजभवन के ‘ग्लास हाउस' में दोपहर तीन बजकर 50 मिनट पर पद एवं गोपनीयता की शपथ ली. इस समारोह में भाजपा की राज्य इकाई के प्रभारी महासचिव अरुण सिंह भी मौजूद थे. मालूम हो येदियुरप्पा के जुलाई, 2019 में कार्यभार संभालने के बाद से यह मंत्रिमंडल का तीसरा विस्तार है.

येदियुरप्पा कैबिनेट में ये हैं 7 नये चेहरे

येदियुरप्पा कैबिनेट में जगह पाने वाले मंत्रियों में उमेश कट्टी, अरविंद लिम्बावली, एमटीबी नागराज, मुरुगेश निरानी, आर शंकर, सी पी योगेश्वर और एस अंगारा शामिल हैं.

एक सीट रखी गयी है खाली

मालूम हो 7 नये मंत्रियों के शपथ लेने के बाद येदियुरप्पा कैबिनेट में अब कुल 34 मुंत्री हो गये हैं. हालांकि अब भी एक सीट खाली रखा गया है. येदियुरप्पा ने पहले ही आबकारी मंत्री एच नागेश से मंत्रालय का कार्यभार वापस लिए जाने का संकेत दिया था. उन्होंने बताया था कि एक सीट रिक्त रखी जाएगी.

इससे पहले येदियुरप्पा ने शपथ ग्रहण करने वाले सात मंत्रियों की सूची राजभवन को भेज दी थी. उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि अन्य मसलों पर पार्टी के केंद्रीय नेताओं के साथ विचार-विमर्श किया जाएगा.

मंत्रालय वापस लिये जाने की खबर पर क्या बोले नागेश

मंत्रालय वापस लिये जाने की खबर पर आबकारी मंत्री एच नागेश ने कहा था कि उन्हें ऐसे किसी कदम की जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा था, यह मैं ही हूं जिसने भाजपा सरकार के गठन का मार्ग प्रशस्त किया तथा मुख्यमंत्री एवं राज्य के लोग जानते हैं.

इससे पहले बताया जा रहा था कि मंत्रिमंडल विस्तार मुश्किल भरी हो सकती है क्योंकि पार्टी के पुराने नेताओं के साथ साथ कांग्रेस और जनता दल (सेकुलर) से आये नेता मंत्रिपरिषद में जगह पाने की आस में हैं. इन दो विपक्षी दलों से बगावत कर आये नेताओं की वजह से ही भाजपा की सरकार बन पायी थी.

Posted By - Arbind kumar mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें