1. home Hindi News
  2. national
  3. kanpur history sheeter vikas dubey stf up police border seal up police 8 policeman encounter yogi adityanath priyanka gandhi akhilesh yadav

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को दबोचने के लिए एसटीएफ ने लगाया एड़ी-चोटी का जोर, यूपी की सीमा को किया सील, लेटेस्ट अपडेट

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
यूपी की सीमा सील, हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को दबोचने के लिए एसटीएफ ने लगाई एड़ी-चोटी का जोर, लेटेस्ट अपडेट
यूपी की सीमा सील, हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को दबोचने के लिए एसटीएफ ने लगाई एड़ी-चोटी का जोर, लेटेस्ट अपडेट
PTI

कानपुर : कानपुर में कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने के लिए यूपी पुलिस ने एंड़ी चोटी की जोर लगा दा है. पुलिस ने विकास दुबे को दबोचने के लिए एसटीएफ को भेजा है. इसके साथ ही यूपी की सीमा को सील कर दिया गया है. कानपुर से लगने वाली सभी सीमा पर हाई अलर्ट जारी कर घेराबंदी कर दी गई है. इससे पहले, आज सुबह कानपुर में विकास दुबे गैंग के साथ हुई मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक सहित उत्तर प्रदेश पुलिस के कम से कम आठ कर्मी मारे गए.

अधिकारियों ने समाचार एजेंसी को बताया कि दो और तीन जुलाई की मध्य रात्रि को चौबेपुर पुलिस थाने के अंतर्गत दिकरू गांव में पुलिस का दल आदतन अपराधी विकास दुबे को गिरफ्तार करने जा रहा था. उसी दौरान मुठभेड़ हो गई. दुबे के खिलाफ करीब 60 आपराधिक मामले चल रहे हैं. अधिकारियों ने बताया कि पुलिस का एक दल अपराधी के ठिकाने के पास पहुंचने ही वाला था. उसी दौरान एक इमारत की छत से पुलिस दल पर अंधाधुंध गोलीबारी की गई जिसमें पुलिस उपाधीक्षक एस पी देवेंद्र मिश्रा, तीन उप निरीक्षक और चार कॉन्स्टेबल मारे गए.

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एस सी अवस्थी ने बताया कि कुख्यात अपराधी को छापेमारी की संभवत: भनक लग गई थी. अवस्थी ने बताया कि दुबे और उसके साथियों ने अपने ठिकाने की ओर बढ़ रहे पुलिस कर्मियों को रोकने के लिए जेसीबी आदि लगा कर रास्ते को बाधित कर दिया था. पुलिस के दल को इसकी जानकारी नहीं थी. उन्होंने बताया कि रास्ता बाधित होने से पुलिस दल रुका और उसी दौरान अपराधियों ने एक इमारत की छत से अंधाधुंध गोलीबारी शुरु कर दी. घटना की सूचना पा कर अतिरिक्त महानिदेशक (कानून और व्यवस्था), महानिरीक्षक (कानपुर) और कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंच गए हैं.

डीजीपी ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) को भी वहां भेजा गया है. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में कर्तव्यपालन के दौरान जान गंवाने वाले आठ पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि दी और उनके परिजनों के प्रति संवेदना जाहिर की है.

विपक्ष ने बोला योगी सरकार पर हमला- कानपुर में अपराधियों के साथ मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मियों के मारे जाने के बाद कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने भाजपा नीत प्रदेश सरकार में कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाते हुए हमला बोला है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, 'बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस पर अंधाधुंध गोलीबारी की गयी जिसमें उप्र पुलिस के सीओ, एसओ सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. उत्तर प्रदेश पुलिस के इन शहीदों के परिजनों के साथ मेरी शोक संवेदनाएं. प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं.'

वहीं बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट किया, 'कानपुर में शातिर अपराधियों द्वारा मुठभेड़ में डीएसपी सहित 8 पुलिसकर्मियों की मौत व 7 अन्य के आज तड़के घायल होने की घटना अति-दुःखद, शर्मनाक व दुर्भाग्यपूर्ण है. स्पष्ट है कि यूपी सरकार को खासकर कानून-व्यवस्था के मामले में और भी अधिक चुस्त व दुरुस्त होने की जरूरत है.'

समाजवादी पार्टी ने एक तीखे ट्वीट में योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, '‘रोगी सरकार' के जंगलराज में 'हत्या प्रदेश' बने उत्तर प्रदेश के कानपुर में दबिश के दौरान सत्ता संरक्षित अपराधियों द्वारा हमले में सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद, अत्यंत दुखद! आत्मा को शांति दे भगवान! शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना! एक-एक करोड़ रूपये के मुआवजे का हो ऐलान। सत्ता कनेक्शन का हो पर्दाफाश!'

Posted By : Avinish Kumar Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें