1. home Hindi News
  2. national
  3. india china disengagement 10 commander level talks latest updates discussion on hotspring despang and demchok meeting all details pwn

India China News: पैंगोंग से हटने के बाद क्या देसपांग से पीछे हटेगा चीन ? बातचीत जारी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
India China News
India China News
Twitter
  • भारत चीन के बीच कमांडर स्तर की 10वें दौर की वार्ता जारी

  • पैंगोंग से पीछे हट रहा है चीन

  • गोगरा हॉट स्प्रिंग और देपसांग पर हो रही बातचीत

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच तनाव जहां एक ओर कम होता नजर आ रहा है. चीन के सैनिक भी पीछे हट रहे हैं. फिंगर पांच से फिंगर आठ के बीच फैलाए अपने सभी सामान को चीनी सैनिक समेट रहे हैं. वहीं दूसरी ओर चीन ने पहली बार माना है कि गलवान घाटी की झड़प में उसके भी सैनिक मारे गए थे. चीन की ओर से पिछले साल जून में हुई खूनी झड़प के दौरान मारे गए पांच सैनिकों की जानकारी साझा करने का काम किया है. आपको बता दें कि इस खूनी झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हुए थे.

चीनी सेना का सीमा से पीछे हटना भारत के लिए एक बड़ी रणनीतिक जीत मानी जा रही है. भारत की मजबूत रणनीति के बदौलत ही भारत ने चीन की सेना को पीछे खदेड़ने का काम किया है. इस बीच आज भारत और चीन के बीच 10वें कमांडर स्तर की बातचीत जारी है. बैठक में गोगरा हॉट स्प्रिंग और देपसांग पर बातचीत हो रही है. इसके साथ ही डेमचोक मुद्दे पर भी वार्ता जारी है. डेमचोक वहीं जगह है जहां भारतीय अपने मवीशियों को चराने के लिए जाते हैं. बैठक में बातचीत की अगुवाई कोर कमांडर पीजेके मेनन और आईटीबीपी के आईजी दीपम सेठ कर रहे हैं.

इधर चीन ने कहा है कि पूर्वी लद्दाख सीमा पर अग्रिम मोर्चे पर तैनात चीन और भारत के सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया सुगमता से जारी है. साथ ही, उम्मीद जताई कि दोनों देश लक्ष्य को हासिल करने के लिए साथ मिलकर प्रयास करेंगे. चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता एवं वरिष्ठ कर्नल वु कियान ने 10 फरवरी को एक संक्षिप्त प्रेस विज्ञप्ति जारी कर यह घोषणा की थी कि पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के दक्षिणी एवं उत्तरी किनारों पर अग्रिम मोर्चे पर तैनात चीन और भारत के सैनिकों ने साथ-साथ तथा व्यवस्थित तरीके से पीछे हटना शुरू कर दिया है.

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया में हुई प्रगति के बारे में पूछे जाने पर कहा कि मेरी जानकारी के मुताबिक, यह प्रक्रिया सुगमता से आगे बढ़ रही है. हमें उम्मीद है कि दोनों देश आपस में बनी सहमति और हस्ताक्षरित समझौतों का सख्त अनुपालन करेंगे तथा सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया सुगमता से पूरी होना सुनिश्चित करेंगे. राजनयिक और सैन्य माध्यमों से हुई कई दौर की वार्ताओं में दोनों देशों के बीच बनी सहमति के आधार पर पैंगोंग झील इलाके में अग्रिम मोर्चे से सैनिकों को पीछे हटाने का कार्य 10 फरवरी को साथ-साथ एवं योजनाबद्ध तरीके से शुरू कर दिया गया. भारत चीन के बीच कमांडर स्तर पर वार्ता होने तथा Latest News in Hindi से अपडेट के लिए बने रहें हमारे साथ.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें