1. home Hindi News
  2. national
  3. independence day 15 august 2020 at red fort this independence day pm narendra modi speech with no school children amid coronavirus crisis

15 August: पीएम मोदी लाल किले से इस अंदाज में देंगे भाषण, कोरोना संकट के कारण नहीं होंगे स्कूली बच्चे

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पीएम नरेंद्र मोदी
पीएम नरेंद्र मोदी
File

Independence Day 2020, Pm narendra modi: दुनिया के बाकी मुल्कों की तरह भारत भी इस वक्त कोरोना महामारी से जंग में जुटा है. इस बीच 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाने को लेकर तैयारियां शुरू हो गयीं हैं. अब तक की जानकारी के मुताबिक, आजादी के 73 सालों में पहली बार लालकिले के समारोह को सीमित करने के लिए हिस्सा लेने वालों की संख्या में कटौती की जा रही है. कोरोना संकट को देखते हुए इस बार 15 अगस्त के कार्यक्रम में स्कूली बच्चों शामिल नहीं होंगे.

साथ ही 20 फीसदी वीवीआईपी ही पीएम नरेंद्र मोदी का भाषण लाइव सुन पाएंगे. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, कार्यक्रम स्थल पर इस बार काफी कम कुर्सियां लगाइ जाएंगी, आयोजन स्थल पर तैनात सुरक्षाकर्मी पीपीई किट में नजर आएंगे. पहले जहां लालकिले में ऊपर दोनों ओर करीब 900 से एक हजार वीवीआईपी बैठते थे इस बार सिर्फ 200-250 वीवीआईपी होंगे और उन्हें नीचे बैठना होगा. दर्शक दीर्घा में सोशल डिस्टेंसिंग नियम का पालन करना होगा.

कोरोना वॉरियर्स पर मुख्य फोकस

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दोपहर में राष्ट्रपति भवन में होने वाले कार्यक्रम में कोरोना वॉरियर्स पर मुख्य फोकस होगा. हेल्थ सेक्टर के लोगों और मेडिकल प्रोफेशनल्स को आमंत्रित किया जाएगा. एएसआई अधिकारी के हवाले से इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि मेहमानों की सूची अभी नहीं बनी है. मेहमानों की अंतिम सूची रक्षा मंत्रालय बनाएगा. लकड़ी की फिक्स कुर्सियां नहीं लगाएं जाएंगी. आम जनता के लिए लालकीला एक अगस्त से बंद कर दिया जाएगा.

ध्वजारोहण, परेड और पीएम का राष्ट्र के नाम संबोधन

लाल किले पर 15 अगस्त की तैयारियों से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इस बार काफी कुछ बदला-बदला नजर आएगा. ध्वजारोहण, परेड और पीएम का राष्ट्र के नाम संबोधन... ये तीनों पहले की तरह होंगे. सुरक्षा में भी कोई कटौती या फेरबदल नहीं किया जाएगा, बल्कि इस बार यह और मजबूत होगी. हर साल की भांति इस बार स्कूली बच्चे आयोजन का हिस्सा नहीं होंगे लेकिन एनसीसी के कैडेट्स सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हिस्सा लेंगे. दिल्ली पुलिस की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बताया कि कार्यक्रम स्थल पर सारे स्टाफ पीपीई किट में रहेंगे. कई स्थानों पर सैनेटाइजेशन प्वाइंट बनाया जाएगा.

चाय परोसा जाएगा या नहीं..?

इधर, राष्ट्रपति भवन में कार्यक्रम होगा यह तय है लेकिन कार्यक्रम में क्या क्या होगा यह अभी तय नहीं किया गया है. मसलन, चाय परोसा जाएगा या नहीं..कितने लोग आएंगे, वेन्यू हॉल का साइज कितना बड़ा होगा, जैसी ये सारी चीजें अभी तय नहीं हुईं हैं. मध्य अगस्त में कोरोना की स्थिति को देखते हुए ही ये सारे फैसले लिए जाएंगे. सूत्रों के मुताबिक, कोरोना वॉरियर्स के नाम और संख्या पर भी चर्चा जारी है. मेहमानों में आमतौर पर मंत्री, विभिन्न दलों के नेता, कई बड़े अधिकारी, जज, पुरस्कार प्राप्त शख्स स्वतंत्रता सेनानी, देश की नामी हस्तियां और मीडिया के लोग आम तौर पर होते हैं. मगर इस बार मेहमानों की सूची में कटौती होगी. बारिश की संभावना के मद्देनजर कार्यक्रम का आयोजन मुगल गार्डन में नहीं होगा.

सबसे महत्वपूर्ण पीएम मोदी का भाषण

कोरोना संक्ट के इस दौर में सबसे महत्वपूर्ण लालकीले की प्राचीर से पीएम मोदी का भाषण होगा. हर बार की तरह इसमें जोश होगा, देश के लिए भविष्य के लिए दिशा होगी और सरकार के छह साल के विकास की गाथा भी होगी. इसके लिए मोदी सरकार ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है. सूत्रों के अनुसार पीएमओ ने सभी मंत्रालयों से इनपुट और सुझाव मांगा है. मंत्रालयों से कहा गया है कि पीएम ने पिछले 6 साल में लाल किले से उनके मंत्रालयों से संबंधित जो घोषणाएं की हैं उसकी सूची और साथ ही उस पर मंत्रालयों ने कितना काम किया है उसका स्टेटस भी भेजें.

Posted By: Utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें