1. home Home
  2. national
  3. heavy rain in marathwada of maharashtra before return of monsoon rain alert for these states on october 6 mtj

मानसून की वापसी से पहले मराठवाड़ा में भारी वर्षा, 6 अक्टूबर को इन राज्यों के लिए Rain Alert

Rain Alert|Weather Update|Weather Forecast|पिछले हफ्ते ही भारी वर्षा से मराठवाड़ा के विभिन्न हिस्सों में भारी क्षति हुई थी. वैसे मराठवाड़ा को साल भर सूखाग्रस्त क्षेत्र के तौर पर जाना जाता है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Weather Forecast: महाराष्ट्र के जलाशयों का जलस्तर बढ़ा, खोलने पड़े फाटक
Weather Forecast: महाराष्ट्र के जलाशयों का जलस्तर बढ़ा, खोलने पड़े फाटक
File Photo

नयी दिल्ली/औरंगाबाद: मानसून की वापसी (Return of Monsoon) से पहले महाराष्ट्र (Maharashtra) के मराठवाड़ा (Marathwada) में पिछले 24 घंटे के दौरान भारी वर्षा हुई. वहीं, भारत मौसम विभाग (IMD) ने बुधवार (6 अक्टूबर) को कुछ और राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट (Heavy Rain Alert) जारी किया है. पिछले 24 घंटे के दौरान महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र के ओस्मानाबाद, बीड और जालना जिलों में भारी वर्षा हुई.

एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. पिछले हफ्ते ही भारी वर्षा (Heavy Rain) से मराठवाड़ा के विभिन्न हिस्सों में भारी क्षति हुई थी. वैसे मराठवाड़ा को साल भर सूखाग्रस्त क्षेत्र के तौर पर जाना जाता है. एक राजस्व अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटे में जालना, बीड और ओस्मानाबाद जिलों के आठ क्षेत्रों में 65 मिलीमीटर से अधिक वर्षा हुई.

उन्होंने बताया कि ओस्मानाबाद की तुलजापुर तहसील के इतकाल सर्किल में सबसे अधिक 80.25 मिलीमीटर वर्षा हुई. अधिकारी ने बताया कि बीड के जालना, राजुरी, चौसाला, लिंबागणेश और जातेगांव तथा ओस्मानाबाद के परगांव सर्किल में भारी बारिश हुई. उन्होंने बताया कि क्षेत्र में अब तक औसत प्रत्याशित वर्षा का 155.47 फीसद वर्षा हुई है.

अधिकारी ने बताया कि इस क्षेत्र के आठ जिलों में जालना 189 प्रतिशत वर्षा के साथ शीर्ष स्थान पर तथा बीड 185.66 फीसदी और औरंगाबाद 168.82 वर्षा के साथ क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे. अधिकारी ने यह भी बताया कि इस क्षेत्र में 13 में से 11 जलाशयों से नदियों में पानी छोड़ा जा रहा है.

इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश

दक्षिण-पश्चिम मानसून की 6 अक्टूबर से वापसी शुरू होगी. लेकिन, इससे पहले कई राज्यों में अच्छी-खासी बारिश हुई और इसका दौर अभी भी जारी है. आईएमडी ने ट्वीट किया है कि उत्तर पश्चिम के कुछ हिस्सों से 6 अक्टूबर से मानसून की वापसी के लिए स्थितियां अनुकूल नजर आ रही हैं.

झारखंड से ओड़िशा तक कम दबाव का क्षेत्र

मौसम विभाग ने कहा है कि दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है. झारखंड से ओड़िशा तक एक निम्न दबाव की रेखा फैली हुई है. यही वजह है कि कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. 5 अक्टूबर को तमिलनाडु में, 6 अक्टूबर को केरल में और 5 से 7 अक्टूबर के दौरान कर्नाटक में भारी बारिश की आशंका आईएमडी ने जतायी है.

मौसम विभाग ने कहा है कि कर्नाटक के तटीय इलाकों में अलग-अलग जगहों पर भारी हो सकती है. आंध्र प्रदेश के तटीय इलाके, केरल, मध्य महाराष्ट्र, दक्षिण कोंकण, गोवा और पुडुचेरी में भारी बारिश के आसार नजर आ रहे हैं.

इतना ही नहीं, बिहार, ओड़िशा, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठावाड़ा, आंध्रप्रदेश के तटीय इलाके, तेलंगाना, रायलसीमा, कर्नाटक में अलग-अलग जगहों पर गरज के साथ बौछार पड़ने की संभावना है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें