1. home Home
  2. national
  3. gandhi jayanti 2021 lg ladakh rk mathur today unveiled the national flag created by khadi village industries commission smb

बापू की जयंती के मौके पर लेह में फहराया गया दुनिया का सबसे बड़ा ‘खादी’ का तिरंगा, जानें इसकी खूबियां

National Flag राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 152वीं जयंती के मौके पर हर कोई अपने-अपने अंदाज में बापू को याद कर रहा है. इसी कड़ी में केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में भी गांधी जयंती को बेहद खास ढंग से मनाया जा रहा है. यहां खादी से बनकर तैयार हुए दुनिया के सबसे बड़े राष्ट्रीय ध्वज का उद्घाटन किया गया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
LG Ladakh unveiled the National flag created by Khadi & Village Industries Commission
LG Ladakh unveiled the National flag created by Khadi & Village Industries Commission
Twitter

National Flag Created by Khad राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 152वीं जयंती के मौके पर हर कोई अपने-अपने अंदाज में बापू को याद कर रहा है. इसी कड़ी में केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में भी गांधी जयंती को बेहद खास ढंग से मनाया जा रहा है. यहां खादी से बनकर तैयार हुए दुनिया के सबसे बड़े राष्ट्रीय ध्वज का उद्घाटन किया गया. लद्दाख के उपराज्यपाल आरके माथुर ने लेह में दुनिया के सबसे बड़े खादी राष्ट्रीय ध्वज का उद्घाटन कर उसे लगाया. इस दौरान सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे भी मौके पर मौजूद रहें.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह राष्ट्रीय ध्वज 225 फीट लंबा और 150 फीट चौड़ा है. इसका वजन करीब एक हजार किलो है. इसे मुंबई स्थित सेना की 57 इंजीनियर रेजीमेंट ने तैयार किया है. इस तिरंगे को लेह की जनस्कार पहाड़ी पर लगाया गया. इस अवसर पर वायुसेना के हेलीकॉप्टरों ने तिरंगे के सम्मान में फ्लाई पास्ट किया. दो दिनों के लद्दाख दौरे पर पहुंचे सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने भी कार्यक्रम में हिस्सा लिया. उनके साथ कई बड़े सैन्य अधिकारी भी मौजूद थे.

लेह की जनस्कार पहाड़ी पर फहराए गया तिरंगा अपने आप में कुछ खास है. इस तिरंगे को बनाने के लिए 4500 मीटर खादी के कपड़े का इस्तेमाल किया गया है और ये तिरंगा 37,500 वर्ग फुट के क्षेत्र को कवर करता है. बताया जा रहा है कि इस राष्ट्रीय ध्वज को 70 कारीगरों ने 49 दिन में तैयार किया. ये झंडा खादी विकास बोर्ड और मुंबई की एक प्रिंटिंग कम्पनी के सहयोग से बनाया गया. 8 अक्टूबर को इसे एयरफोर्स डे पर हिंडन ले जाया जाएगा. ध्वज को सुरक्षाबलों ने देश भर के ऐतिहासिक स्मारकों और रणनीतिक स्थानों पर प्रदर्शित करने की योजना बनाई है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें