1. home Hindi News
  2. national
  3. five year girl in rajasthan died due to lack of drinking water was walking with her grandmother in desert at 45 degree temperature pwn

राजस्थान के रेगिस्तान और तपती धूप में पांच घंटे चलने के बाद प्यास से तड़पकर मर गयी पांच साल की बच्ची

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
राजस्थान के रेगिस्तान और तपती धूप में पांच घंटे चलने के बाद प्यास से तड़पकर मर गयी पांच साल की बच्ची
राजस्थान के रेगिस्तान और तपती धूप में पांच घंटे चलने के बाद प्यास से तड़पकर मर गयी पांच साल की बच्ची
Twitter

राजस्थान में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है जबा पश्चिमी राजस्थान क्षेत्र में तपती भूमि और 45 डिग्री गर्मी के पीने के पानी की कमी के कारण पांच साल के बच्ची की प्यास से तड़पकर मौत हो गयी. पानी की कमी के कारण उस बच्ची की दादी भी बेहोश हो गयी.

दरअसल 60 वर्षीय दादी अपनी पांच वर्षीय पोती को लेकर अपने पैतृक गांव सिरोही जिले से अपने ससुराल जालौर जिले के एक गांव में जा रही थी. लोगों के बताया कि दोनों ने रविवार सुबह यात्रा शुरु की और रानीवाड़ा के लिए निकल पड़े. जालौर से रानीवाड़ा जाने के लिए उन्होंने 22 किलोमीटर लंबे राजमार्ग का रास्त नहीं चुना और 15 किलोमीटर का शॉर्टकट रास्ता चुना जो रेगिस्तान और पहाड़ियों से होकर गुजरता था.

घटना को लेकर रानीवाड़ा थाना प्रभारी पद्मा राम ने बताया कि दादी(सुखी देवी) शनिवार को पश्चिमी राजस्थान के जालोर जिले के रानीवाड़ा क्षेत्र के डूंगरी गांव स्थित अपने घर से सिरोही जिले के रायपुर गांव स्थित अपने मायके गई थी.

उन्होंने कहा की जब दोनो दादी पोती रविवार सुबह रानीवाड़ा के लिए निकले तो प्रस्थान करते समय सुखी और अंजलि (पोती) अपने साथ पीने का पानी नहीं ले गए थे. थाना प्रभारी ने बताया कि जब दोनों रानीवाड़ा क्षेत्र के निर्जन रेगिस्तानी इलाके से गुजर रहे थे तब अंजलि ने अपनी दादी से पीने का पानी मांगना शुरु किया. लेकिन आस पास कही भई पानी नहीं मिला.

हालांकि रास्ते में उन्हें एक चरवाहा मिला जिसने पानी देने से इनकार कर दिया. इसके बाद अंजलि अपनी दादी के पानी मांगते-मांगते बेहोश हो गयी और दादी के सामने ही उसकी मौत हो गयी. जबकि सुखी देवी को पुलिस ने पश्चिमी राजस्थान के जालोर जिले के रानीवाड़ कस्बे के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया जिससे उसकी जान बच गयी.

जानकारी के मुताबिक एक दूसरे चरवाहे ने जब उन्हें बेहोश सरपंच ने घटना की सूचना रानीवाड़ा थाने को दी, जिसके थाना प्रभारी पद्मा राम मौके पर पहुंचे और सुखी देवी को पीने का पानी उपलब्ध कराया. उन्होंने कहा कि सुखी और अंजलि को रानीवाड़ा अस्पताल ले जाया गया जहां अंजलि को मृत घोषित कर दिया गया. पानी की कमी के कारण पांच वर्षीय बच्ची की डिहाइड्रेशन और दिल का दौरा पड़ने के कारण मौत हुई.

थाना प्रभारी ने आगे बताया कि जिस जगह पर दोनों बेहोश हुए थे उस जगह से खेती कार्य के लिए बने कुएं महज एक किलोमीटर दूर थे. जांच में यह भी पता चला है कि दुर्गम इलाका और अधिक तापमान होने के कारण दोनों ने पांच घंटे में सात किलोमीटर का सफर तय किया था. उन्होंने कहा की अपने साथ पानी नहीं ले जाना और राजमार्ग को चुनने के बजाय एक रेगिस्तानी शॉर्टकट रास्ता को चुनना उनका गलत फैसला था.

इस घटना को लेकर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने ट्वीट किया, राजस्थान में मुख्यमंत्री जी के सियासी भाषणों पर भूख,प्यास और मौत भारी है. राजस्थान का दुर्भाग्य है कि अब तक की नकारा निकम्मी और भ्रष्ट कांग्रेस सरकार ने भूख,बेरोजगारी,अराजकता,माफियाओं और अपराधों की जमीन बना दिया है. अशोक जी राज्य की जनता आपको कभी माफ़ नहीं करेगी. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता अर्चना शर्मा ने कहा कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें