1. home Hindi News
  2. national
  3. farmers protest warning to block delhi meeting of nadda with home minister defense minister agriculture minister latest updates krishi bill 2020 kissan andolan prt

Farmer Protest: नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी, गृहमंत्री अमित शाह से मिले कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

By Agency
Updated Date
Farmer Protest
Farmer Protest
Social Media

Farmer Protest : नये कृषि कानूनों के खिलाभ किसान बीते 2 महीने से आंदोलन पर उतारु हैं. देश के कई राज्यों से आये किसान बीते चार दिनों से दिल्ली में डटे हैं. दिल्ली और हरियाणा के अलग-अलग बॉर्डर पर किसानों का डेरा है. पुलिस ने भी बार्डर सील कर दिया है. इस कारण दिल्ली आने वाले या हरियाणा जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है. कई जगहों का रुट बदला गया है. तो कुछ जगह लंबा जाम है, लोग पैदल ही सफर करने पर मजबूर है. वहीं, किसानों के आंदोलन के बीच कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करने पहुंचे हैं. कृषि मंत्री गृह मंत्री से मिलकर किसान आंदोलन को लेकर बात करेंगे.

इधर, राष्‍ट्रीय राजधानी में किसानों के तेज होते आंदोलन को देखते हुए केंद्र सरकार इसके समाधान में जुटी है. सरकार हर स्तर पर चर्चा के लिए तैयार है. इसी सिलसिले में रविवार देर रात बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक भी हुई. बैठक में इस मसले पर विचार-विमर्श किया गया. बैठक में भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा के अलावा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर समेत कई और लोग शामिल हुई.

  • अब पांच हाइवे पर धरना देकर दिल्ली की करेंगे घेराबंदी

  • दिल्ली जानेवाले सभी मार्गों पर धरना शुरू

  • सभी खाप पंचायत आज करेंगी दिल्ली कूच, सीटू का भी मिला समर्थन

  • किसानों ने बनायी साझा समिति, जो आगे की रणनीतिक बनायेगी

  • आंदोलन के मंच पर किसी भी नेता को बोलने की इजाजत नहीं होगी

  • जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने आंदोलन को दिया समर्थन

गौरतलब है कि नये कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी की सीमा पर पिछले चार दिनों से प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों ने बुराड़ी मैदान जाने के केंद्र के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. उन्होंने रविवार को कहा कि वे अपना प्रदर्शन नहीं रोकेंगे और कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध जारी रखेंगे. करीब 30 किसान संगठनों की रविवार को हुई बैठक के बाद उनके प्रतिनिधियों ने कहा कि वे बुराड़ी के मैदान में नहीं जायेंगे, क्योंकि वह खुली जेल है. उन्होंने कहा कि वे बातचीत के लिए किसी शर्त को स्वीकार नहीं करेंगे और दिल्ली में प्रवेश के सभी पांच रास्तों को बाधित करेंगे.

भाकियू की पंजाब इकाई के अध्यक्ष सुरजीत एस फूल ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा रखी गयी शर्त हमें स्वीकार नहीं है. हम कोई सशर्त बातचीत नहीं करेंगे. घेराव खत्म नहीं होगा. हम दिल्ली को जोड़ने वाले सभी पांच हाइवे का घेराव करेंगे और दिल्ली की घेराबंदी कर देंगे. भाकियू की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चाधोनी ने कहा कि हम बातचीत करने को तैयार है, लेकिन अभी कोई शर्त नहीं स्वीकार करेंगे. क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शन पाल ने कहा कि अगर कोई शर्त रखी जाती है तो हम बात नहीं करेंगे.

इधर, कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने गुरु पर्व पर गुरबानी का पाठ किया और एक दूसरे को गुरूपर्व की बधाई भी दी.

Postes by : pritish sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें