24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Farmers Protest : सीमा पर ही रात गुजारेंगे किसान, सुबह फिर शुरू होगा मार्च : किसान नेता गुरनाम सिंह

Farmers Protest LIVE नयी दिल्ली : कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ दिल्ली में प्रदर्शन के लिए हजारों की संख्या में किसान पंजाब (Punjab) और हरियाणा (Haryana) से निकल चुके हैं. किसानों को बॉडर पर ही रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किये गये हैं. कई जगहों पर सीआरपीएफ (CRPF) को भी लगाया गया है. हरियाणा दिल्ली बॉर्डर पर कड़ी चेकिंग चल रही है. वहीं पंजाब हरियाणा बॉर्डर पर हजारों की संख्या में जमा किसानों ने पुलिस पर हमला कर दिया है. किसानों को रोकने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े हैं. किसान ने पुलिस की बैरिकेडिंग तोड़ डाली है और लगातार पथराव कर रहे हैं. इसके अलावा करनाल में कर्ण झील के पास 5000 से ज्यादा किसान जमा हो गये हैं. हर अपडेट के लिए पढ़ते रहें prabhatkhabar.com

लाइव अपडेट

सीमा पर ही रात गुजारेंगे किसान, सुबह फिर शुरू होगा मार्च : किसान नेता गुरनाम सिंह 

भारतीय किसान संघ (हरियाणा) के नेता गुरनाम सिंह ने कहा है कि प्रदर्शनकारियों की सीमा पर ही रात गुजारने की योजना है और अगली सुबह फिर मार्च शुरू होगा. दिल्ली की सीमा के पास यातायात जाम हो गया. क्योंकि, पुलिस ने हरियाणा और उत्तरप्रदेश से आनेवाले वाहनों की जांच शुरू कर दी. दिल्ली और एनसीआर के बीच मेट्रो सेवाएं भी रोक दी गयी थी.

किसान प्रदर्शन को लेकर दिल्ली पुलिस के वाहन जांच तेज करने पर सीमाओं पर लगा भारी जाम

हरियाणा और उत्तर प्रदेश से राष्ट्रीय राजधानी आनेवाले लोगों को कई सीमा क्रॉसिंग पर भारी यातायात जाम का सामना करना पड़ा. क्योंकि, केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब के किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च के मद्देनजर गुरुवार को दिल्ली पुलिस ने वाहन जांच तेज कर दी. पंजाब के किसानों का मार्च पांच राजमार्गों के माध्यम से दिल्ली पहुंचने वाला है.

मेधा पाटकर को उत्तर प्रदेश की सीमा में जाने से रोका

केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में होनेवाले विरोध प्रदर्शन में भाग लेने जा रहीं सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर को गुरुवार को उत्तर प्रदेश की सीमा में जाने से रोक दिया गया. पाटकर और उनके समर्थक मुंबई-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर बैठ गये. इससे आवागमन बंद हो गया. धौलपुर जिला कलेक्टर आर के जायसवाल के मुताबिक, महाराष्ट्र से दिल्ली जा रहीं सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर अपने 400 समर्थकों के साथ गुरुवार की सुबह से अब भी राजस्थान की सीमा पर बरैठा चौकी के पास आगरा-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग पर बैठी हैं और राजमार्ग पर यातायात बंद है. उन्हें उत्तर प्रदेश में जाने की स्वीकृति नहीं दी गयी है. इससे पूर्व राष्ट्रीय राजमार्ग पर किसानों द्वारा धरना और प्रदर्शन किये जाने से वाहनों की लंबी कतार लग गयी.

अवरोधक तोड़ कर पैदल आगे बढ़े हजारों किसान, पीछे हटी पुलिस

दाता सिंह वाला बॉर्डर पर दिल्ली कूच के लिए डेरा डाले बैठे किसानों ने धावा बोल दिया और वे जिला प्रशासन द्वारा खड़े किये गये अवरोधकों को पैदल पार कर गये. इस दौरान पुलिस ने पानी की बौछारों का का प्रयोग किया, तो आंदोलनकारी किसानों ने पथराव शुरू कर दिया. हालात बिगड़ते देख पुलिस बल पीछे हट गया. इस दौरान आंदोलनकारियों ने सरकारी गाड़ियों में तोडफोड़ भी की. फिलहाल जिला प्रशासन हालात पर नजर बनाए हुए है. किसानों के दिल्ली कूच आह्वान के चलते जिला प्रशासन ने पंजाब को जोड़नेवाले दाता सिंह वाला बॉर्डर को सील किया हुआ है. किसानों ने बॉर्डर पर धावा बोल दिया और पैदल डंडे और लाठियां लेकर हरियाणा में घुस गये.

किसानों के विरोध को लेकर दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में बढ़ी निगरानी

दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के 'दिल्ली चलो' विरोध मार्च के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी निगरानी सख्त कर दी. राष्ट्रीय राजधानी के सीमाई इलाकों में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है और आनेवाले सभी वाहनों की जांच की जा रही है. पुलिस ने कहा कि सिंघू सीमा पर दिल्ली पुलिस ने किसानों द्वारा संचालित ट्रैक्टरों की आवाजाही रोकने के लिए रेत से भरे पांच ट्रकों को खड़ा किया है. यह पहला मौका है कि जब शहर की पुलिस ने सीमा पर रेत से भरे ट्रकों को तैनात किया है. सुरक्षा के उद्देश्य से ड्रोन भी तैनात किये गये हैं. पुलिस ने बताया कि सीमा को सील नहीं किया गया है, लेकिन वे राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करनेवाले सभी वाहनों की जांच कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर को दिल्ली जाकर केंद्र पर बनाना चाहिए था दबाव : सुखबीर सिंह बादल

किसानों के विरोध प्रदर्शनों पर शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि किसान किसी भी राजनीतिक झंडे के नीचे अपना अभियान शुरू नहीं करना चाहते हैं. सभी दलों के किसान कृषि कानून के मुद्दे पर एकजुट हैं. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने तीखी भूमिका निभायी, क्योंकि उन्होंने बिल्कुल भी विरोध नहीं किया. साथ ही कहा कि केंद्र पर मुख्यमंत्री का दबाव बहुत मायने रखता है. मुख्यमंत्री चाहें तो बहुत-सी बातों को सुलझा सकते हैं. कैप्टन अमरिंदर सिंह को दिल्ली जाकर केंद्र के साथ बैठक करके दबाव बनाना चाहिए था. साथ ही, मैं हरियाणा के किसानों से अपील करना चाहता हूं कि वे पंजाब के किसानों का समर्थन करें.

करनाल में पुलिस ने किया वाटर कैनन का इस्तेमाल

कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की ओर आगे बढ़ रहे किसानों को करनाल में रोक दिया गया. किसानों को तितर-बितर करने के लिए हरियाणा के करनाल में पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया.

खट्टर ने कहा कि मासूम किसानों को उकसाना बंद करें कैप्टन अमरिंदर सिंह

कैप्टन अमरिंदर सिंह के आरोप पर पलटवार करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि मैं इसे फिर से कह रहा हूं, अगर एमएसपी पर कोई परेशानी होगी तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा. कैप्टन सिंह कृपया निर्दोष किसानों को उकसाना बंद करें. मैं पिछले 3 दिनों से आप से संपर्क करने की कोशिश कर रहा हूं, लेकिन दुख की बात है कि आप दूरी बनाए हुए हैं.

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मनोहर लाल खट्टर पर लगाया आरोप

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए हरियाणा सरकार की जबरन कोशिशों की निंदा की. सीएम ने कहा कि मनोहर लाल खट्टर की सरकार किसानों को क्यों रोक रही है, बल का इस्तेमाल अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक है.

कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने किसानों को बातचीत का दिया न्यौता

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मैं अपने किसान भाइयों से अपील करना चाहता हूं कि वे आंदोलन न करें. हम मुद्दों के बारे में बात करने और मतभेदों को सुलझाने के लिए तैयार हैं. मुझे यकीन है कि हमारे संवाद का सकारात्मक परिणाम होगा.

किसानों को समर्थन देने पहुंचे योगेंद्र यादव हिरासत में

किसानों के आंदोलन को समर्थन करने पहुंचे सामाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव को गुरुग्राम में पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

अंबाला में किसानों ने तोड़ी पुलिस की बैरिकेडिंग

पंजाब के अंबाला में सादोपुर सीमा पर किसानों ने पुलिस बैरिकेडिंग को तोड़ दिया है. किसान दिल्ली की ओर कूच करना चाहते हैं. किसानों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा कर्मियों ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया है.

करनाल के कर्ण झील के पास हजारों किसान हुए जमा

हरियाणा के करनाल में कर्ण झील के पास कृषि कानूनों का विरोध प्रदर्शन में शामिल होने दिल्ली की ओर जाने के लिए हजारों की संख्या में किसान आगे बढ़ रहे हैं. कर्ण झील क्षेत्र के पास बड़ी संख्या में किसान इकट्ठा हुए हैं.

हरियाणा बॉर्डर पर किसानों ने पुलिस पर पत्थर फेंके

किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने चलाये आंसू गैस के गोले

अंबाला (हरियाणा) के पास शंभू बॉर्डर पर इकट्ठा हुए किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया है. काफी संख्या में वहां किसान जमा हुए हैं. पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे हैं.

योगेंद्र यादव के नेतृत्व में रेवाड़ी से दिल्ली जा रहे किसान

पूर्व आप नेता स्वराज इंडिया के संस्थापक योगेंद्र यादव के नेतृत्व में बड़ी संख्या में किसान हरियाणा के रेवाड़ी से दिल्ली के लिए निकल चुके हैं. दिल्ली में प्रवेश के लिए सभी बॉर्डर पर सुरक्षा पुख्ता कर दी गयी है. दिल्ली आने वाली सभी गाड़ियों की चेकिंग हो रही है.

दिल्ली-जम्मू हाईवे पर भारी पुलिस बल तैनात

दिल्ली में किसानों के विरोध प्रदर्शन को लेकर करनाल में कर्ण झील के पास दिल्ली-जम्मू राजमार्ग पर काफी सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. एक यात्री का कहना है कि कल देर रात से राजमार्ग को बंद कर दिया गया है, जिसकी वजह से कई वाहन यहां फंसे हुए हैं.

कपड़ा, बिस्तर लेकर निकले हैं किसान, ट्रैक्टर पर ही गुजारेंगे रात

एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि 'दिल्ली मार्च' के लिए निकले किसान खाने-पीने के सामान, कपड़े और बिस्तर भी साथ लेकर आ रहे हैं. किसानों की मंशा है कि वे या तो ट्रैक्टर पर ही रात गुजारेंगे या फिर नेशनल हाईवे के किनारे बनें कैंपों में ठहरेंगे. इसको देखते हुए सरकार ने अपील की है कि दो दिन तक दिल्ली बॉर्डर की तरफ जाने से बचें.

केंद्र के लेबर लॉ के खिलाफ बंगाल में रेलवे ट्रैक पर ट्रेड यूनियन का प्रदर्शन

पंजाब में मजदूर संगठन रेल रोको अभियान चला रहे हैं. केंद्र सरकार के लेबर लॉ के खिलाफ ट्रेड यूनियन का प्रदर्शन जारी है. कई जगहों पर रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन किया जा रहा है और ट्रेन सेवाओं को बाधित किया जा रहा है. कोलकाता, नॉर्थ 24 परगना में लेफ्ट ट्रेड यूनियन के कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर दिया है.

दिल्ली-फरीदाबाद बॉर्डर पर सीआरपीएफ तैनात

किसानों के 'दिल्ली चलो' विरोध मार्च के मद्देनजर दिल्ली-फरीदाबाद सीमा पर काफी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात किये गये हैं. सब इंस्पेक्टर पृथ्वीराज मीणा ने बताया कि सीआरपीएफ की 3 टीमें, 2-3 पुलिस स्टेशनों से पुलिस बल और होमगार्ड के जवान यहां हैं. वरिष्ठ अधिकारी भी दौरा कर रहे हैं. सभी वाहनों की जांच की जा रही है.

विरोध प्रदर्शन को लेकर मेट्रो का बदला रूटीन

दिल्ली में किसानों के विरोध प्रदर्शन को लेकर दोपहर 2 बजे तक मेट्रो का रूटीन बदला गया है. उम्मीद की जा रही है कि सभी लाइनों पर दोपहर बाद नियमित तरीके से मेट्रो सर्विस उपलब्ध रहेंगी. मेट्रो ने एडवाइजरी जारी कर बताया है कि किस लाइन पर किन स्टेशनों पर ट्रेनें मिलेंगी और कहां नहीं मिलेंगी. दिल्ली मेट्रो की तरफ से बताया गया है कि पुलिस के अनुरोध पर उसने रेग्युलर सर्विस में कुछ बदलाव किया है.

बॉर्डर पर ड्रोन कैमरे से हो रही है निगरानी

किसानों के 'दिल्ली चलो' आंदोलन के मद्देनजर सिंघू बॉर्डर (दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर) पर भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किये गये हैं. स्थिति पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रही है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें