1. home Hindi News
  2. national
  3. farmers protest bku rakesh tikait announced 8 months to run farmer agitation angry protests after may 10 farmer laws avd

Farmers Protest : राकेश टिकैत का ऐलान, 8 महीने और चलेगा किसान आंदोलन, 10 मई के बाद उग्र प्रदर्शन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
राकेश टिकैत का ऐलान, 8 महीने और चलेगा किसान आंदोलन
राकेश टिकैत का ऐलान, 8 महीने और चलेगा किसान आंदोलन
twitter
  • राकेश टिकैत का ऐलान, और 8 महीने चलेगा किसान आंदोलन

  • टिकैत ने कहा, 10 मई के बाद किसान आंदोलन और होगा उग्र

  • मई में संसद मार्च करेंगे किसान, 10 मई को केएमपी एक्सप्रेसवे को 24 घंटे के लिए करेंगे जाम

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन अब भी जारी है. इधर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बड़ी चेतावनी दे दी है. उन्होंने ऐलान कर दिया है कि आंदोलन और 8 महीने चलेगा. उन्होंने इसके साथ ही कह दिया है कि 10 मई के बाद प्रदर्शन और भी उग्र हो जाएगा.

न्यूज एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में टिकैत ने कहा, आंदोलन अभी आठ महीने और चलाना पड़ेगा. किसान को आंदोलन तो करना ही पड़ेगा, अगर आंदोलन नहीं होगा तो किसानों की जमीन जाएगी. किसान 10 मई तक अपनी गेंहू की फसल काट लेंगे, उसके बाद आंदोलन तेजी पकड़ेगा.

इससे पहले संयुक्त किसान मोर्चा ने ऐलान किया है कि मई में किसान संसद मार्च करेंगे. मोर्चा ने अगले दो महीनों के लिए अपनी योजनाओं की घोषणा करते हुए कहा, किसान मई के पहले पखवाड़े में संसद तक मार्च करेंगे. मार्च की तिथि अब तक तय नहीं हुई है. किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा, इसमें न केवल किसानों को, बल्कि बल्कि महिलाओं, बेरोजगार व्यक्तियों और श्रमिकों को भी शामिल किया जाएगा जो आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं. चढूनी ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि मार्च शांतिपूर्ण ढंग से निकाला जायेगा और इस बात का विशेष ध्यान रखा जायेगा कि 26 जनवरी को जो घटना हुई थी, उसकी पुनरावृत्ति नहीं हो.

किसान नेताओं ने 10 अप्रैल को 24 घंटे के लिए कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे को अवरुद्ध करने की भी घोषणा की. एक अन्य किसान नेता ने कहा, हम केएमपी एक्सप्रेसवे को 10 अप्रैल को 24 घंटे के लिए अवरुद्ध करेंगे, जो कि 10 अप्रैल को पूर्वान्ह्र 11 बजे से अगले दिन पूर्वान्ह्र 11 बजे तक होगा.

पांच अप्रैल को एफसीआई (भारतीय खाद्य निगम) बचाओ दिवस आयोजित किया जायेगा और इसके तहत देशभर के एफसीआई कार्यालयों का घेराव किया जायेगा. किसानों ने भीम राव आंबेडकर की जयंती पर 14 अप्रैल को संविधान बचाओ दिवस मनाने का भी आह्वान किया है. इसी तरह दिल्ली की सीमाओं पर एक मई को श्रमिक दिवस भी आयोजित किया जायेगा.

Posted By - Arbind kumar mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें