1. home Hindi News
  2. national
  3. du cut off 2020 delhi university release first cut off list today learn details here aml

DU Cut Off 2020: डीयू का पहला कट ऑफ लिस्ट जारी, यहां जानें डिटेल्स

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
DU Cut Off 2020
DU Cut Off 2020
File Photo

DU Cut Off 2020 : दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) द्वारा करीब 70,000 सीटों पर नामांकन के लिए शनिवार को पहला कट ऑफ लिस्ट जारी कर दिया गया है. विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने विद्यार्थियों को प्रवेश प्रक्रिया (Admission in DU 2020) के लिए महाविद्यालयों का चक्कर काटने से मना किया है. इस साल प्रवेश प्रक्रिया कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के कारण पूरी तरह ऑनलाइन होगी. इस साल कुछ कोर्सेज के लिए जनरल कैटेगरी में कट ऑफ 96.5 फीसदी तय किया गया है. वहीं सबसे कम कट ऑफ 79.5 फीसदी है.

DU Cut Off 2020: डीयू का पहला कट ऑफ लिस्ट जारी, यहां जानें डिटेल्स

बी कॉम ऑनर्स में कट ऑफ 96.5 फीसदी है. बीए ऑनर्स इकोनॉमिक्स के लिए कट ऑफ 96.5 फीसदी है. बीए ऑनर्स इतिहास के लिए कट ऑफ 92 फीसदी है. बीएससी ऑनर्स कम्प्यूटर साइंस के लिए कट ऑफ 92.5 फीसदी है. बीए ऑनर्स अंग्रेजी के लिए कट ऑफ 96.5 फीसदी है. बीए ऑनर्स हिंदी के लिए सबसे कम कट ऑफ 79.5 फीसदी है.

DU Cut Off 2020: डीयू का पहला कट ऑफ लिस्ट जारी, यहां जानें डिटेल्स

इसके साथ ही मानव संसाधन मैनेजमेंट के लिए कट ऑफ 92.5 फीसदी है. मार्केटिंग मैनेजमेंट और रिटेल बिजनेस के लिए कट ऑफ 91.5 फीसदी है. मैनेजमेंट एंड मार्केटिंग ऑफ इंश्यूरेंस के लिए कट ऑफ 88.5 फीसदी है. मटेरियल मैनेजमेंट के लिए कट ऑफ 86.5 फीसदी है. स्मॉल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज के लिए कट ऑफ86.5 फीसदी है. टूरिज्म मैनेजमेंट के लिए कट ऑफ 90 फीसदी है. ऑफिस मैनेजमेंट एंड सेक्रेटेरियल प्रैक्टिस के लिए कट ऑफ 87 फीसदी है. ये कट ऑफ जनरल कैटेगरी के लिए है.

पिछले साल हिंदू कॉलेज में राजनीतिक विज्ञान ऑनर्स के लिए सर्वाधिक 99 फीसदी अंक था. लेडी श्रीराम कॉलेज में बीए प्रोग्राम और साइकोलॉजी ऑनर्स में 98.75 फीसदी अंक था. हिंदू कॉलेज में भौतिकी के लिए सर्वोच्च कट ऑफ 98.3 फीसदी गया था. महाविद्यालयों के प्राचार्यों ने कहा कि वे कट ऑफ को अंतिम रूप देने में जुटे हैं.

विश्वविद्यालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘विद्यार्थी 12 अक्टूबर दस बजे से प्रवेश के लिए आवेदन भर पायेंगे लेकिर पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी. उन्हें महाविद्यालयों एवं विभागों का चक्कर नहीं लगाना चाहिए क्योंकि उन्हें प्रवेश की अनुमति ही नहीं दी जायेगी.'

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें