1. home Hindi News
  2. national
  3. delta corona virus indian variant of coronavirus who announced new name of covid variants alpha beta gama delta prt

भारत के कोरोना वेरिएंट का नाम होगा Delta, WHO ने किया नामकरण, जानिए कौन सा Variants है सबसे खतरनाक

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Corona Virus
Corona Virus
twitter
  • डब्ल्यूएचओ ने रखे कोरोना वैरिएंट्स को नाम

  • भारत के कोरोना स्ट्रेन का नाम रखा डेल्टा

  • काफी खतरनाम है कोरोना का यह स्ट्रेन

Delta Variants Coronavirus: कोरोना वायरस प्राकृतिक है या इसे लैब में बनाया गया है इस विवाद के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वैरिएंट्स का नामकरण किया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि, मुख्य वैरिएंट्स को आसानी से याद रखा जा सके इसके लिए इसका नाम रखा गया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वेरिएंट्स के नामकरण के लिए ग्रीक भाषा के अल्फाबेट्स का इस्तेमाल किया है. वहीं, भारत में दूसरी लहर के लिए जिम्‍मेदार कोरोना वायरस वैरिएंट B.1.617.2 (Corona Virus Variants B.1.617.2 ) का नाम डेल्टा (Delta Strain) रखा है. वहीं, भारत में ही मिले वायरस के दूसरे स्ट्रेन (B.1.617.1) का नाम 'कप्पा' रखा गया है.

अन्य वेरिएंट के भी रखे नामः विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) कई और देशों में मिले वेरिएंट का भी नामकरण किया है. इसी कड़ी में ब्रिटेन में वैरिएंट का नाम विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अल्फा रखा है. जबकि, साउथ अफ्रीका में मिले वैरिएंट कान नाम बीटा रखा गया है. अमेरिका में मिले वेरिएंट का नाम विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एप्सिलॉन रखा है. और ब्राजील में मिले स्ट्रेन का नाम गामा रखा गया है. फिलीपींस में में मिले स्ट्रेन का नाम थीटा रखा गया है.

भारत ने जताया था कड़ा ऐतराजः गौरतलब है कि, कोरोना के B.1.617.2 स्ट्रेन को भारतीय वैरिएंट का नाम दिए जाने पर भारत ने कड़ा ऐतराज जताया था. इस मामले में खुद डब्ल्यूएचओ (WHO) का भी कहना है कि वायरस के किसी भी स्ट्रेन या वैरिएंट को दुनिया के किसी भी देश के नाम से नहीं जोड़ा जाएगा. बता दें, भारत में कोरोना वायरस का B.1.617 स्ट्रेन कोरोना का सबसे खतरनाक वेरिएंट्स में से एक है. दुनिया के 53 देशों में यह वायरस फैला है.

कोरोना की दूसरी लहर ने मचाई थी जमकर तबाहीः बता दें डेल्टा कोरोना वायरस भारत में कोरोना की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार है. इस वायरस के कारण भारत में कोरोना संक्रमितों का बाढ़ सी आ गई थी. हजारों लोगों की जान चली गई. संक्रमितों का आंकड़ा प्रतिदिन 4 लाख को भी पार करने लगा था. B.1.617 स्ट्रेन के कारण ही इतने लोगों की मौत हुए.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें