1. home Home
  2. national
  3. chhattisgarh cm bhupesh baghel attacked the rebels expressed faith on the orders of sonia and rahul gandhi vwt

सीएम भूपेश बघेल ने बागियों पर किया हमला, सोनिया-राहुल गांधी के आदेश पर जताई आस्था, कुर्सी सुरक्षित

छत्तीसगढ़ में बागियों के तेवर तल्ख होने के बाद उन्होंने दिल्ली में अपना डेरा जमा रखा है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
मीडिया से बात करते छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश सिंह बघेल.
मीडिया से बात करते छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश सिंह बघेल.
फोटो : ट्विटर.

नई दिल्ली : कांग्रेस शासित राज्य छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह बघेल ने बुधवार को सूबे में पार्टी के बागी नेताओं पर जमकर हमला किया है. उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के आदेशों पर आस्था भी जताई है. पार्टी आलाकमान की ओर से कुर्सी सलामती का संकेत मिलने के बाद उन्होंने कहा कि जो ढाई साल-ढाई साल का राग अलाप रहे हैं, वे राजनीतिक अस्थिरता लाने का प्रयास कर रहे हैं, जिसमें वे कभी सफल नहीं होंगे.

बता दें कि कांग्रेस शासित राज्य पंजाब के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी बगावत के सुर तेज हो गए हैं. छत्तीसगढ़ में बागियों के तेवर तल्ख होने के बाद उन्होंने दिल्ली में अपना डेरा जमा रखा है. हालांकि, उनके साथ राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव भी मौजूद हैं. सूबे में ढाई-ढाई साल के सत्ता बंटवारे को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं, लेकिन मंगलवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बघेल को उनकी कुर्सी सलामत रहने के संकेत मिल गए हैं.

बुधवार को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह बघेल ने बागियों पर हमला करते हुए कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि उनका (सोनिया गांधी और राहुल गांधी) जब तक आदेश है, मैं इस (मुख्यमंत्री) पद पर हूं. जब वो कहेंगे, इस पद का त्याग कर दूंगा. जो ढाई साल-ढाई साल का राग अलाप रहे हैं, वो राजनीतिक अस्थिरता लाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वो कभी सफल नहीं होंगे.

बता दें कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव मंगलवार को दिल्ली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मिल चुके हैं. उनके साथ इस बैठक में प्रभारी पीएल पुनिया भी मौजूद थे. यह बैठक करीब तीन घंटे तक चली. सूत्रों के अनुसार, बैठक में स्पष्ट रूप से कहा गया था कि फैसला होने तक चर्चा को सार्वजनिक न किया जाए.

यही कारण है कि बैठक के बाद तीनों मंत्रियों ने बयान दिया कि उनकी सत्ता को लेकर कोई चर्चा ही नहीं हुई. हालांकि, राहुल ने भूपेश बघेल और टीएस सिंह देव को बुधवार तक दिल्ली में ही रुके रहने का संदेश भी भिजवाया था. सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस आलाकमान के पास मामला जाने के बाद यह साफ हो गया है कि मुख्यमंत्री की कुर्सी पर कोई खतरा नहीं है, लेकिन छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव की ताकत को बढ़ाया जा सकता है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें