1. home Home
  2. national
  3. bulli bai app case accused vishal kumar sent to police custody till january 10 mtj

'Bulli Bai' App केस के आरोपी विशाल कुमार को मुंबई की अदालत ने सुनायी ये सजा

एक महिला पत्रकार के ट्वीट के बाद 'Bulli Bai' App की करतूतों का खुलासा हुआ. महिला पत्रकार उस वक्त आश्चर्यचकित रह गयी, जब...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
'Bulli Bai' App के आरोपी विशाल कुमार के वकील
'Bulli Bai' App के आरोपी विशाल कुमार के वकील
Twitter

मुंबई: मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक और अभद्र बातें लिखने के आरोपी विशाल कुमार को 10 जनवरी तक पुलिस की कस्टडी में भेज दिया गया है. मुंबई पुलिस ने 'Bulli Bai' App केस के सह-आरोपी को मंगलवार को बांद्रा की अदालत में पेश किया, जहां से कोर्ट ने उसे पुलिस की हिरासत में भेज दिया.

'Bulli Bai' App के आरोपी विशाल कुमार के वकील डी प्रजापति ने मीडिया को बताया कि उनके मुवक्किल को 10 जनवरी तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है. उन्होंने कहा कि उनके मुवक्किल को गलत तरीके से मामले में फंसाया गया है. साथ ही उन्होंने कहा कि पुलिस ने कोर्ट में एक आवेदन देकर सर्च वारंट जारी करने का आग्रह किया है.

एक महिला पत्रकार के ट्वीट के बाद 'Bulli Bai' App की करतूतों का खुलासा हुआ. महिला पत्रकार उस वक्त आश्चर्यचकित रह गयी, जब उसे मालूम हुआ कि 'Bulli Bai' ने महिलाओं की तस्वीरों का गलत इस्तेमाल किया. कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और शशि थरूर जैसे नेताओं ने भी 'Bulli Bai' App के खिलाफ आवाज उठायी.

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है सोशल मीडिया पर पूरे दमखम के साथ अपनी बात रखने वाली 100 प्रसिद्ध मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक बातें करने के लिए एक महिला ने साजिश रची. 'Bulli Bai' App के जरिये उसने अपने दोस्त के साथ मिलकर महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक और अभद्र बातें कीं.

इतना ही नहीं, उत्तराखंड की इस महिला ने अपने दोस्त के साथ मिलकर महिलाओं की बोली लगाने जैसा घिनौना काम भी किया. बाद में पुलिस ने इस शातिर महिला के साथी विशाल कुमार को बेंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया.

इंजीनियरिंग का छात्र विशाल कुमार (21) 'Bulli Bai' App मामले की मुख्य आरोपी महिला का परिचित है. फेसबुुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दोनों फ्रेंड हैं. विशाल की गिरफ्तारी से पहले ही पुलिस ने उत्तराखंड की शातिर महिला को हिरासत में ले लिया था.

'Bulli Bai' App के जरिये कई महिला पत्रकारों को भी निशाना बनाया गया है. सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि 'Bulli Bai' App को ब्लॉक कर दिया गया है. आगे की कार्रवाई भी की जा रही है. ज्ञात हो कि पिछले साल ऐसा ही एक मामला सुल्ली डील्स (Sully Deals) पर पर सामने आया था. दोनों विवादित वेबसाइट्स का डेवलपर गिटहब (Github) ही है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें