1. home Hindi News
  2. national
  3. amidst war with ukraine india start exports tea coffee rice to russia prt

भारत ने रूस को किया चावल, चाय-कॉफी समेत कई सामानों का निर्यात, Russia ने कही ये बात

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच भारत ने बड़ा कदम उठाते हुए रूस को फिर से एक्सपोर्ट शुरू कर दिया है. भारत की ओर से रूस को चाय, कॉफी, चावल, फल, समेत अन्य उत्पाद एक्सपोर्ट किए जा रहे हैं. इसका भुगतान रूसी बैंक सर्बैंक और अल्फा बैंक के माध्यम से किया जा रहा है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
India Russia Relation
India Russia Relation
Symbolic Image, Twitter

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच भारत ने बड़ा कदम उठाते हुए रूस को फिर से एक्सपोर्ट शुरू कर दिया है. भारत की ओर से रूस को चाय, कॉफी, चावल, फल, समेत अन्य उत्पाद एक्सपोर्ट किए जा रहे हैं. इसका भुगतान रूसी बैंक सर्बैंक और अल्फा बैंक के माध्यम से किया जा रहा है.

ट्रिब्यून की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने गैर बासमती चावल के 100 से अधिक कंटेनर के साथ-साथ 100 कंटेनर समुद्री उत्पाद और कन्फेक्शनरी उत्पाद शामिल हैं. गौरतलब है कि 24 फरवरी को यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद रूस को एक्सपोर्ट बंद हो गया था. गौरतलब है कि बीते सप्ताह रूसी विज्ञान अकादमी के अध्यक्ष अलेक्जेंडर सर्गेव कहा था कि कि फार्मास्यूटिकल्स, अंतरिक्ष समेत कई और क्षेत्रों में रूस भारत के साथ सहयोग बढ़ाना चाहता है.

इधर, यूक्रेन पर रूसी हमला 50 दिनों से ज्यादा से जारी है. पूर्वी हिस्से पर नियंत्रण के लिए रूस ने हमले तेज भी कर दिये हैं. रूसी सेना ने पूर्वी डोनबास में यूक्रेनी ठिकानों को निशाना बना रहे हैं. रूस ने मंगलवार को बताया कि उसकी सेना ने 1000 ठिकानों पर हमले किये हैं. क्रेमलिन ने घोषणा की कि उसका मुख्य लक्ष्य पूर्वी डोनबास क्षेत्र पर कब्जा करना है. यदि अभियान सफल होता है, तो यह आक्रमण राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को यूक्रेन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा और एक जीत देगा.

हाल के हफ्तों में कीव से पीछे हटने वाले रूसी बलों ने डोनबास में खुद को फिर से संगठित किया है. यहां रूस समर्थित अलगाववादी पिछले आठ वर्षों से यूक्रेनी सेना से लड़ रहे हैं और दो स्वतंत्र गणराज्यों की घोषणा की है, जिन्हें रूस द्वारा मान्यता दी गयी है. इधर, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने कहा कि रूसी सैनिकों ने डोनबास के लिए लड़ाई शुरू कर दी है. इलाके में अबतक 50 लोगों की मौत हो चुकी है.

यूक्रेनी सैन्य अड्डे नष्ट: रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल इगोर कोनाशेनकोव ने कहा कि हवा से लॉन्च की गयी मिसाइलों ने 13 यूक्रेनी सैन्य और हथियार अड्डों को नष्ट कर दिया है, जबकि वायु सेना ने प्रक्षेपास्त्र आयुध भंडारण डिपो सहित 60 अन्य यूक्रेनी सैन्य ठिकानों पर हमला किया है. रूसी तोपखाने ने पिछले 24 घंटों में 1,260 यूक्रेनी सैन्य सुविधाओं और 1,214 सैन्य जमावड़ों को निशाना बनाया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें