28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पाक को करारी चोट देने के बाद एक बार फिर पढ़ लें कोझीकोड में क्या कहा था पीएम मोदी ने ?

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेपाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर मेंआतंकवादियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक करके पाकिस्तान को उरी हमले का माकूल जवाब दे दिया. आज से ठीक पांच दिन पहले 24 सितंबर को उन्होंने उरी हमले पर अफसोस जताते हुए कहा था कि यह देश कभी इसे भूलने वाला नहीं है. पाकिस्तान कहता […]

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेपाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर मेंआतंकवादियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक करके पाकिस्तान को उरी हमले का माकूल जवाब दे दिया. आज से ठीक पांच दिन पहले 24 सितंबर को उन्होंने उरी हमले पर अफसोस जताते हुए कहा था कि यह देश कभी इसे भूलने वाला नहीं है. पाकिस्तान कहता है हम भारत से लड़ने को तैयार हैं तो हमें आपकी चुनौती मंजूर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वह ऐतिहासिक संबोधन हम आपके सामने एक बार फिर सर्जिकल स्ट्राइक के संदर्भ में पेश कर रहे हैं, जिसका उस भाषण में पूर्व संकेत था. उस भाषण में मोदी ने सीधे पाकिस्तान की आवाम से संवाद करने की भी कोशिश की थी, जो अकल्पनीय पहल थी. पढ़ें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस भाषण के प्रमुख अंश :

जवानों की शहादत बेकार नहीं जायेगी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे 18 जवानों की शहादत बेकार नहीं जायेगी. पीएम मोदी ने कहा कि पूरी दुनिया में यह देश आतंकवाद फैला रहा है. उन्होंने कहा कि 21 सदी एशिया की होगी ऐसा कहा जा रहा है, लेकिन एशिया का एक देश इसे रक्तरंजित करने में खून-खराबे में लगा हुआ है. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश हो या अफगानिस्तान हर जगह आतंकी घटना होने पर इसी देश का नाम आता है. मोदी ने कहा कि हम पाकिस्तान से हजार साल युद्ध करने को तैयार हैं.
प्रधानमंत्री ने कहा कि हम पूरी दुनिया में पाकिस्तान को अलग-थलग कर देंगे, उसके बाद वहां की आवाम ही पाकिस्तान के हुक्मरान और आतंकियों के खिलाफ उठ खड़ी होगी. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान हमसे अशिक्षा के खिलाफ, गरीबी के खिलाफ, बेरोजगारी के खिलाफ लड़े. मोदी ने पाकिस्तान के लोगों से कहा कि आपके नेता कश्मीर का नाम लेकर आपको गुमराह कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हम आज दुनिया में सॉफ्टवेयर एक्सपोर्ट कर रहे हैं और पाकिस्तान टेरेरिस्ट एक्सपोर्ट कर रहा है.
हम आतंकवादियों को परास्त करके रहेंगे
नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकवादी या तो उस देश से आते हैं या उस देश में ओसामा बिन लादेन की तरह जा कर छिप जाते हैं. उन्होंने कहा कि उरी में हमारे 18 जवान शहीद हो गये. नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकवादी कान खोल कर सुन लें, कि हम उन्हें परास्त करके रहेंगे. पीएम मोदी ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में 17 आतंकी हमले किये गये, लेकिन हमारे बहादुर जवानों ने उन्हें नाकाम कर दिया और कई को एलओसी पर ही मार गिराया. उनका सिर्फ एक ही हमला उरी में सफल हुआ. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी सेना ने 110 से ज्यादा आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया. पीएम मोदी ने सेना का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि वे वीरता दिखाते हुए देश के लिए लड़ते रहे और हम 125 करोड़ भारतीयों को उनकी वीरता पर गर्व है.
आतंककियों के प्रयास को सेना ने 17 बार विफल किया है
पिछले कुछ महीने में 17 बार अलग-अलग गुट कभी चार तो कभी छह की संख्या में सीमा पार करके हमलावरों ने देश को तहस-नहस करने की कोशिश की लेकिन जांबाज सेना ने इन प्रयासों को विफल किया. लाइन ऑफ कंट्रोल के पास ही मौत के घाट उतार दिया. बहुत कम समय में 110 से भी ज्यादा आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया गया. इन संभावित 17 घटनाओं से देश को बचाने का काम हमारे जवानों ने किया. हमारे जवानों ने सिना तानकर लड़ाई लड़ी. देश के आम नागरिक की रक्षा के लिए लड़ते रहे, जागते रहे.
सिर्फ शस्त्र हमारी ताकत नहीं सवा सौ करोड़ लोगों का मनोबल ताकत है
हमें अपनी सेना पर नाज है, उनकी वीरता पर गर्व है. उनकी शहादत पर गर्व है. पड़ोसी देश एक ही घटना में सफल हुआ और हमारे 18 वीरों को शहीद होना पड़ा. अगर वो इन 17 घटनाओं में सफल होते तो कितना नुकसान कर देते, इसका आप अंदाजा लगा सकते हैं. जितने भी हमारे सुरक्षा बल के जवान हैं वो लड़ाई जीतते गये हैं. इसका कारण सिर्फ शस्त्र नहीं होते. आज हिंदुस्तान का मनोबल ऊंचा है. देश के जवानों के लिए भारत के सवा सौ करोड़ लोगों का मनोबल ताकत है और यही हमारी सैन्य बलों का सामर्थ्य है.
1000 साल तक लड़ने को तैयार आपकी इस चुनौती स्वीकार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पाकिस्तान के आज के हुक्मरान आतंकियों के लिखे गये भाषण पढ़कर कश्मीर के गीत गा रहे हैं. मैं आज यहां से सीधा पाकिस्तान से बात करना चाहता हूं. उन हुक्मरानों से जो आतंकियों के लिखे हुए भाषण पढ़ते हैं दुनिया को उनसे कोई अपेक्षा नहीं है लेकिन मैं यहां से पाकिस्तान के आवाम से बात करना चाहता हूं. 1947 से पहले आपके पूर्वज इसी भारत की धरती को प्रणाम करते थे, इसी को अपनी धरती मानते थे इसी नाते मैं आपसे एक बात कहना चाहता हूं. पाकिस्तान की आवाम जरा अपने हुक्मरानों को पूछे, पीओके तो आपके पास है आप उसको भी नहीं संभाल पाते, कभी बांग्लादेश आपके पास था उसे भी संभाल नहीं पाये.
बलूचिस्तान भी आपके पास है उसको भी नहीं संभाल नहीं पा रहे हैं. जरा उनसे पूछिये कि आप इसको नहीं संभाल पा रहे हैं पहले इसको संभाल कर दिखाओ. पाकिस्तान की आवाम जरा पूछे कि दोनों देश एक साथ आजाद हुए, पर क्या कारण है कि भारत सॉफ्टवेयर एक्सपोर्ट करता है और आप आतंकवाद एक्सपोर्ट कर रहे हैं. आपको गुमराह करन के लिए आपके हुक्मरान कहते हैं भारत से 1000 साल तक लड़ने को तैयार है मैं आपकी इस चुनौती को स्वीकार करने के लिए तैयार हूं. हिम्मत हो आइये एक और लड़ाई लड़ें. आप अपने देश की गरीबी खत्म कीजिए हम अपने देश की गरीबी खत्म करते हैं, देखते हैं पहले कौन करता है कौन जीतता है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें