Woman Raised Pro-Pakistan Slogans: ''मैं सिर्फ चेहरा'', ''पाकिस्तान जिंदाबाद'' के नारे लगाने वाली अमूल्या लियोन ने कह दी बड़ी बात

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

Amulya Leona Woman Raised Pro-Pakistan Slogans at Owaisi's Rally: बेंगलुरु में नागरिकता संशोधन ऐक्ट (सीएए) के खिलाफ आयोजित एक रैली में 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाने वाली अमूल्या लियोन की चर्चा हर किसी की जुबान पर है. जहां सोशल मीडिया पर उन्हें पाकिस्तान जाने की सलाह दी जा रही है. वहीं कर्नाटक सरकार ने दावा किया है कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ बेंगलुरु में रैली के दौरान मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगानेवाली अमूल्या लियोना का नक्सल लिंक है. राज्य सरकार इसकी जांच करायेगी.

इस बीच अमूल्या का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी वायरल हो रहा है. वीडियो में वह कह रही हैं कि वह अकेले नहीं हैं, वह जो कहती और करती हैं, उसके लिए बहुत सारे लोग काम करते हैं....वह मात्र चेहरा हैं...हालांकि, यह वीडियो 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगाए जाने के पहले का है जो अभी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो के वायरल होने के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) पार्टी के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर भी लोग निशाना साध रहे हैं.

अमूल्या वीडियो में कहती नजर आ रही है कि मैं जो भी आज करती दिख रही हूं... वो मैं नहीं कर रही हूं..मैं सिर्फ इसका चेहरा बन चुकी हूं... मीडिया का इसमें हाथ है...लेकिन मेरे पीछे बहुत सारे अडवाइजरी कमिटियां काम में लगी हुईं हैं. वो जो सलाह देते हैं उसी पर मैं काम करती हूं. स्पीच में क्या बोलना है....क्या पॉइंट्स हैं...कॉन्टेंट टीम इसके लिए काम करती है. बहुत सारे सीनियर ऐक्टिविस्ट इसके पीछे हैं...

क्या कहा सीएम बीएस येदियुरप्पा
सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि ऐसा लगता है कि युवती का संबंध नक्सलियों से रह चुका है. यह जानना जरूरी है कि उसके पीछे कौन से संगठन हैं और उसे कौन पोषित कर रहे हैं? यदि हमने उन संगठनों पर कार्रवाई नहीं की, तो चीजें रुकेंगी नहीं. वहीं, अमूल्या के चिकमगलूर के कोप्पा स्थित घर पर कुछ लोगों ने विरोध-प्रदर्शन के दौरान हमला किया. इसके बाद पुलिस ने वहां सुरक्षा बल तैनात कर दिया है. इस बीच, युवती के पिता ने उससे किनारा कर लिया है. वह उसका बचाव नहीं करेंगे. उन्होंने उसे कड़ी-से-कड़ी सजा देने की मांग की है. उधर, अमूल्या को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. उस पर राजद्रोह का केस दर्ज हुआ है. अमूल्या ने फेसबुक पर बहुत पोस्ट शेयर िकये हैं. पुलिस इसकी भी जांच कर रही है. पुलिस आयुक्त भास्कर राव ने कहा कि आयोजकों पर कार्रवाई होगी. आयोजकों को जिम्मेदारी लेनी चाहिए.

कौन है अमूल्या
अमूल्या की उम्र 19 साल है. वह बेंगलुरु के एनएमकेआरवी महिला कॉलेज से बीए जर्नलिज्म की पढ़ाई कर रही है. वह एक रिकॉर्डिंग कंपनी में ट्रांसलेटर के तौर पर भी काम कर चुकी है. वह 'अलनोरोन्हा' के नाम से फेसबुक पेज चलाती है.

क्या है मामला : बेंगलुरु में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ एक रैली के दौरान गुरुवार को अमूल्या लियोना ने मंच से ही तीन बार पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये थे. इस दौरान ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी वहां मौजूद थे.

मेरी बेटी पर कानून के तहत कार्रवाई हो, ताकि वह खुद को सुधार सके. गलती माफी के काबिल नहीं है. उसने भारतीय लोगों को ठेस पहुंचायी है. पता लगाना होगा कि उसने ऐसा क्यों कहा और इसके पीछे कौन है? मैंने उसे मना किया था.

वाजी, अमूल्या के पिता

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें